Bharat Bandh Today: कृषि कानूनों के विरोध में आज किसान यूनियनों ने सुबह 6 बजे से भारत बंद का आह्वान किया है जो शाम चार बजे तक चलेगा. इस बीच किसानों के भारत बंद का समर्थन करने दिल्ली के कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे और किसानों के मंच के सामने बैठ गए. ये देखते ही उनको किसानों ने साफ कह दिया कि ये राजनीतिक आंदोलन नहीं है, आप यहां से चले जाएं. आपका किसानों के बीच क्या काम है. बता दें कि कांग्रेस ने कहा था कि वह भारत बंद में किसानों का समर्थन करेगी.Also Read - किसान आंदोलन स्थल के पास हत्या का मामला, कांग्रेस ने की जांच की मांग, BJP ने बताया देश का नुकसान

किसानों के इस बर्ताव पर अपनी प्रतिक्रिया में अनिल चौधरी ने कहा कि वह उनकी स्थिति समझ सकते हैं. यह किसानों का मसला है, लेकिन इसे लेकर कांग्रेस सड़कों पर उतरेगी. अगर किसान हमें यहां से जाने को कहेंगे तो हम वापस चले जाएंगे. हम यहां किसानों के लिए आए हैं, कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं है. Also Read - सिंघु बॉर्डर पर किसान मंच के पास मिला शव, हाथ काटकर बैरिकेड से लटकाया

Also Read - IPL 2021, DC vs KKR: Rishabh Pant ने किया अंपायर के साथ 'प्रैंक', सोशल मीडिया पर Video वायरल

किसानों ने बताया कि हमने उनसे कहा कि हम उन्हें बंद के दौरान उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देते हैं लेकिन हमारा एक गैर-राजनीतिक विरोध और मंच है. हमने पहले घोषणा की थी कि हम अपने मंच पर राजनीतिक दलों को अनुमति नहीं देंगे. इसलिए हमने उनसे अनुरोध किया कि वे हमारी साइट से थोड़ी दूर पर विरोध करें. हम विरोध नहीं कर रहे.

दिल्ली के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने कहा है कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि कानूनों को रद करने की मांग को लेकर करीब 300 दिनों से दिल्ली की सीमा पर धरना चल रहा है. धरने के दौरान सैकड़ों किसानों की मौत हो गई है, लेकिन मोदी सरकार ने इस मामले पर किसानों के साथ चर्चा करने की भी जहमत नहीं उठाई और न ही उनकी दुर्दशा पर दया की.