नई दिल्ली: दिल्ली में लड़के लड़कियों की और लड़कियां लड़कों की मसाज नहीं कर सकेंगे. इस पर अब पाबंदी लगा दी गई है. सेक्स रैकेट की वजह से इस पर बैन लगाया गया है. अक्सर स्पा सेंटर्स में सेक्स रैकेट पकड़े जाने के मामले सामने आते हैं. कई स्पा सेंटर्स से देह व्यापार किया जाता है.Also Read - Delhi Corona Update: दिल्ली में लगातार पांचवें दिन कोरोना से नहीं गई किसी की जान, बीते 24 घंटे में 30 नए मामले

इस फैसले पर दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालिवाल ने राष्ट्रीय राजधानी में दिल्ली सरकार के इस फैसले पर ख़ुशी जताई है. विपरीत लिंग के व्यक्ति से मालिश कराने पर पाबंदी लगाने के दिल्ली सरकार के दिशा-निर्देशों का स्वागत करते हुए उन्होंने उम्मीद जताई कि यह कदम सेक्स रैकेट पर लगाम लगाने में मदद करेगा. Also Read - Delhi Corona Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे में 39 नए केस, आज भी नहीं गई किसी की जान; एक्टिव मरीजों की संख्या फिर 400

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में यौन शोषण व मानव तस्करी को रोकने के लिए स्पा और मालिश केंद्रों के संचालन के लिए नए सख्त दिशानिर्देशों को मंजूरी दी थी, जिसमें विपरीत लिंग के व्यक्ति से मालिश कराने पर प्रतिबंध लगाने का प्रावधान भी शामिल है. दिशा-निर्देशों में कहा गया है, ‘स्पा और मसाज सेंटरों में विपरीत लिंग के व्यक्ति से मसाज कराने की अनुमति नहीं होगी. पुरुषों की मालिश के लिए पुरुष मालिशकर्ता और महिलाओं की मालिश के लिए महिला मालिशकर्ता का प्रावधान किया जाएगा.’ Also Read - Delhi Corona Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे में 20 नए केस, एक्टिव मरीजों की संख्या 400 से कम

स्पा और मसाज केन्द्रों को नए दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा. दिशा-निर्देशों के तहत इन्हें स्वास्थ्य व्यवसाय का लाइसेंस प्राप्त करने के लिये ‘अपने परिसरों में किसी भी तरह की यौन गतिविधियों’ और 18 साल से कम आयु के लोगों को काम पर रखने पर पूरी तरह पाबंदी लगानी होगी. मालिवाल ने ट्वीट किया, ‘हमने दिल्ली के कई मसाज पार्लरों का औचक निरीक्षण कर सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया और सरकार को सिफारिशें सौंपीं. दिल्ली में विपरीत लिंग के व्यक्ति से मसाज कराने पर प्रतिबंध लगाने के लिये मैं दिल्ली सरकार की आभारी हूं. इससे इस समस्या पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी.’