private ambulance services Charges in Delhi कोविड-19 महामारी बढ़ने के बीच, दिल्ली सरकार ने बृहस्पतिवार को निजी एम्बुलेंस सेवाओं द्वारा लिए जाने वाले शुल्क की सीमा 1,500 से 4,000 रुपये के बीच तय कर दी है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है. मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में कहा कि अस्पतालों में कोविड-19 रोगियों की बढ़ती भीड़ के बीच कुछ निजी एम्बुलेंस संचालक अवैध ढंग से अत्यधिक शुल्क ले रहे हैं.Also Read - Delhi में कोरोना पॉजिटिविटी दर 20 फीसदी के करीब, बढ़ते मामलों के बीच LG की अपील- 'महामारी अभी खत्म नहीं हुई है इसलिए...'

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘यह हमारे संज्ञान में आया है कि दिल्ली में निजी एम्बुलेंस सेवाएं अवैध ढंग से अत्यधिक शुल्क ले रही हैं.’’ उन्होंने कहा, “इससे बचने के लिए, दिल्ली सरकार ने अधिकतम कीमतें तय की हैं, जो निजी एम्बुलेंस सेवाएं ले सकती हैं. आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.” Also Read - दिल्ली-एनसीआर में रियल एस्टेट की कीमतों में 8 बड़े शहरों में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी दर्ज

Image Also Read - देश के लिए अरविंद केजरीवाल का नया ब्लूप्रिंट- 130 करोड़ लोगों को फ्री स्वास्थ्य सुविधाएं, 27 करोड़ बच्चों को फ्री शिक्षा

दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस के 20,960 नए मामले सामने आए और संक्रमण के कारण 311 मौतें हुई हैं, जिससे महानगर में संक्रमण के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 12,53,902 और मृतकों की संख्या 18,063 हो गई.

(इनपुट भाषा)