Delhi Unlock Update: देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर धीरे-धीरे कम हुआ है, हालांकि संभावित तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए एहतियात भी बरते जा रहे हैं. देश की राजधानी दिल्ली में भी कोरोना के मामले कम होने के बाद धीरे-धीरे तमाम तरह की गतिविधियों को इजाजत दी गई है. इन सबके बीच त्योहारों के लिए डीडीएमए ने कुछ गाइडलाइंस जारी किये.Also Read - Delhi School Reopening News: दिल्ली में 1 नवंबर से खोले जा रहे सभी क्लास के सभी स्कूल लेकिन छात्रों को....

दिल्ली में इस साल सार्वजनिक स्थानों और नदी के किनारे छठ का त्योहार मनाने की अनुमति नहीं होगी. इसके साथ ही त्योहारों के दौरान मेला या खाने-पीने की दुकानें लगाने नहीं दी जाएंगी. यह घोषणा दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने गुरुवार को की. प्राधिकरण ने नए कोविड-19 दिशानिर्देश में हालांकि कहा है कि बड़ी संख्या में लोगों के जमा होने और समारोह के लिए नियमों में ढील त्योहार मनाने के लिए केवल 15 नवंबर तक दी गई है. Also Read - Chhath Puja 2021: दिल्ली में सार्वजनिक रूप से छठ पूजा मनाने की इजाजत, इस बात का रखना होगा खास ख्याल

डीडीएमए ने एक आधिकारिक आदेश में कहा, ‘दिल्ली में त्योहारों के दौरान प्रदर्शनी, मेला, खाने – पीने की दुकानें, झूला, रैली और जुलूस निकालने की अनुमति नहीं होगी. सार्वजनिक स्थानों पर छठ मनाने की भी अनुमति नहीं दी जाएगी और लोगों को सलाह दी जाती है कि वे इस त्योहार को अपने घर में ही मनाएं.’ Also Read - Delhi Me Kab Khulenge School: मनीष सिसोदिया का बड़ा ऐलान- दिल्ली में सभी क्लास के सभी स्कूल 1 नवंबर से खोले जाएंगे

आदेश में कहा गया है, ‘उत्सव समारोह मनाने के लिए सभी आयोजकों को पूर्व में ही संबंधित जिलाधिकारी से अनुमति लेनी होगी. जिलाधिकारी या प्राधिकारी निषिद्ध क्षेत्र में कोई भी कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं देंगे.’ डीडीएमए ने स्पष्ट किया किसी भी उत्सव में लोगों को खड़े होने या जमीन पर बैठने की अनुमति नहीं होगी और केवल कुर्सियों की व्यवस्था होने और सामाजिक दूरी का अनुपालन करने पर ही कार्यक्रम की अनुमति दी जाएगी.

(इनपुट: भाषा)