Uttarakhand Assembly Election 2022: दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने उत्तराखंड विधानसभा चुनाव-2022 को लेकर बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के बेरोजगार युवकों को जबतक नौकरी नहीं मिल जाती, तबतक 5000 रुपऐ बेरोजगारी भत्ता के रूप में दिया जाएगा. केजरीवाल ने आगे कहा कि उत्तराखंड में सरकार बनते ही छह महीने के अंदर एक लाख बेरोजगारों को सरकारी नौकरी दी जाएगी. राज्य में हर घर को रोजगार दिया जाएगा. उत्तराखंड में अगले साल विधानसभा चुनाव-2022 की तैयारियों को लेकर केजरीवाल प्रदेश में काफी सक्रिय हो रहे हैं.Also Read - Coal Shortage Issue: सीएम केजरीवाल ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी-देखिएगा जरा, दिल्ली में ना हो दिक्कत

बनेगा रोजगार और पलायन मंत्रालय Also Read - CWC की मीटिंग की तारीख तय हुई, कांग्रेस अध्‍यक्ष के चुनाव को लेकर हो सकता है कोई निर्णय

दिल्ली के सीएम ने आगे कहा कि सरकारी नौकरी में उत्तराखंड के बेरोजगारों को 80 फीसदी तक आरक्षण का फायदा देंगे और दिल्ली की तर्ज पर उत्तराखंड में भी बेरोजगारों के लिए रोजगार पोर्टल बनाया जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य में आम आदमी पार्टी की सरकार बनते ही रोजगार और पलायन मंत्रालय बनाया जाएगा, उत्तराखंड में हो रहे पलायन पर वार करने के लिए ठोस रणनीति बनाकर काम किया जाएगा. Also Read - Unemployment Allowance: बेरोजगारी भत्ता के लिए तुरंत करें रजिस्ट्रेशन, जानिए- क्या है प्रक्रिया और कैसे मिलेगा लाभ?

21 साल की दुर्दशा 21 महीने में ठीक कर देंगे

केजरीवाल ने कहा कि उत्तराखंड से पलायन कर चुके प्रवासी अगर अपने राज्य में फिर से वापस आना चाहते हैं तो उनके लिए भी प्लानिंग कर कार्य किया जाएगा. आप ने उत्तराखंड में पहले ही 300 यूनिट फ्री बिजली देने का वादा किया है। केजरीवाल ने कहा कि उत्तराखंड में 21 साल की दुर्दशा को आम आदमी पार्टी 21 महीने में ठीक कर देगी.

बता दें कि केजरीवाल इससे पहले 17 अगस्त को देहरादून में रोड शो कर चुके हैं. उन्होंने कर्नल अजय कोठियाल को आम आदमी पार्टी का मुख्यमंत्री चेहरा घोषित किया था. आम आदमी पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनाव में चुनाव लड़ने की घोषणा की है. आम आदमी पार्टी के सभी नेता दिल्ली मॉडल की तरह उत्तराखंड के भी विकास की बात कर रहे हैं.