College Reopening News: कोरोना के कम होते मामलों को देखते हुए अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) सरकार ने दिल्ली सरकार के अधीन आने वाले सभी मेडिकल कॉलेजों को फिर से खोलने की इजाजत दे दी है. इसके लिए SOP जारी की गई है.Also Read - Mukhyamantri Tirth Yatra Yojana: दिल्ली सरकार ने मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना में करतारपुर साहिब को शामिल किया

Also Read - Mukhyamantri Tirth Yatra Yojna 2021: दिल्ली से 3 दिसंबर को ट्रेन से रवाना होगा तीर्थयात्रियों का पहला जत्था, अरविंद केजरीवाल का ऐलान

सरकार की तरफ से जारी आदेश के अनुसार, MBBS/ BDS प्रथम वर्ष के बैच को पहले चरण में बुलाया जाएगा और कॉलेज को फिर से खोलने की तारीख से डेढ़ से दो महीने के भीतर शिक्षण और प्रैक्टिकल पूरा कर लिया जाएगा. इसके बाद अंतिम वर्ष के छात्रों को कॉलेज में शिक्षण गतिविधियों में शामिल होने की इजाजत मिलेगी. Also Read - Delhi Pollution: तेज हवा की वजह से दिल्ली की आबोहवा में आया मामूली सुधार, AQI में भी दर्ज की गई गिरावट

केंद्र से केजरीवाल की अपील
इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ब्रिटेन में कोविड-19 की ‘अत्यंत गंभीर स्थिति’ के मद्देनजर केंद्र से भारत और ब्रिटेन के बीच उड़ानों पर रोक को 31 जनवरी तक बढ़ाने का अनुरोध किया. केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘केंद्र ने रोक हटाने और ब्रिटेन की उड़ानें शुरू करने का फैसला किया है. ब्रिटेन में अत्यंत गंभीर स्थिति के मद्देनजर मैं केंद्र सरकार से पाबंदी को 31 जनवरी तक बढ़ाने का अनुरोध करता हूं.’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘कोविड-19 की स्थिति को नियंत्रित करने में लोगों को काफी मुश्किलें आयी है. ब्रिटेन में कोविड-19 की स्थिति बहुत गंभीर है. अब रोक क्यों हटायी जा रही है और हमारे लोगों को खतरे में क्यों डाला जा रहा है.’ ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्वरूप के मामले आने के बाद भारत ने दोनों देशों के बीच 23 दिसंबर से सात जनवरी तक सभी यात्री उड़ानों को स्थगित कर दिया था. राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के नए स्वरूप से संक्रमण के नौ मामले आ चुके हैं.

मालूम हो कि नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार को कहा था कि भारत से ब्रिटेन के बीच उड़ानें छह जनवरी से बहाल होंगी जबकि ब्रिटेन से भारत के लिए उड़ानों का संचालन आठ जनवरी से आरंभ होगा. पुरी ने ट्वीट किया था, ‘हर सप्ताह 30 उड़ानों का परिचालन होगा. भारत और ब्रिटेन की 15-15 उड़ानें होंगी. यह कार्यक्रम 23 जनवरी 2021 तक लागू रहेगा. बाद में स्थिति की समीक्षा के बाद उड़ानों के फेरे को बढ़ाने पर विचार होगा.’

(इनपुट: ANI,भाषा)