Coronavirus Latest Updates in Hindi: देश में कोरोना संक्रमण से पैदा हुई भयावह स्थिति के बीच कुछ लोग इसका इस्तेमाल अवसर के रूप में कर रहे हैं. संक्रमितों के इलाज के लिए दवाईंया ब्लैक मार्केट में महंगे दाम पर बेची जा रही हैं. ऑक्सीजन सिलिंडर (Oxygen Cylinder) तक लाख रुपए ऊपर की कीमत पर बेचा जा रहा है. इस बीच राजधानी दिल्ली में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने सभी को चौंका दिया. दरअसल शहर में ऐसा गैंग सक्रिय है जो मोटी कीमत वसूलकर ऑक्सीजन सिलिंडर के नाम पर अग्निशामक सिलिंडर (fire extinguisher) बेच रहा है.Also Read - दिल्ली: डॉक्टर अनस के परिजनों को केजरीवाल ने सौंपा एक करोड़ का चेक, कोरोना से हुई थी मौत

दिल्ली पुलिस ने गुरुवार (29 अप्रैल, 2021) को ऐसे दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. द्वारका डीसीपी संतोष कुमार मीणा ने बताया- ‘अग्निशामक सिलिंडर को ऑक्सीजन सिलिंडर बताकर बेचने के मामले में 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. इनके पास से 5 सिलिंडर बरामद हुए हैं. आरोपियों से पूछताछ की जा रही है.’ द इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के अनुसार आरोपी कोरोना मरीजों को एक सिलिंडर दस हजार रुपए में बेचते थे. इनकी पहचान आशुतोष चौहान (19) और आयुष कुमार (22) के रूप में हुई है. Also Read - Delhi News: ड्यूटी पर कोरोना से जान गंवाने वाले अध्यापक के परिजनों को 1 करोड़ की मदद, नौकरी भी दिलाएंगे केजरीवाल

Also Read - Black Fungus Disease Update: ब्लैक फंगस ने बढ़ाई मुसीबत! महाराष्ट्र में 90 लोगों की मौत तो दिल्ली में 1 की जान गई, करीब 50 मरीज भर्ती

पुलिस ने बताया कि एक महिला गीता अरोड़ा ने इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी. उन्होंने बताया कि दो लोगों ने ऑक्सीजन सिलिंडर के नाम पर फायर सिलिंडर बेच दिया. पीड़िता ने बताया कि उनके रिश्तेदार को सांस लेने में तकलीफ थी. उन्होंने मरीज को हॉस्पिटल में एडमिट कराने की खूब कोशिश की मगर कहीं बेड नहीं मिला. बाद में उन्होंने बाहर से ऑक्सीजन सिलिंडर की व्यवस्था करने की कोशिश की और आरोपियों के संपर्क में आ गईं. उन्होंने कहा- उन्होंने दस हजार रुपए लेकर ऑक्सीजन सिलिंडर की जगह फायर ऑक्सीजन थमा दिया.

डीसीपी संतोष कुमार मीणा ने बताया कि पीड़िता की शिकायत के बाद मामले में जांच शुरू कर दी गई. सूचना के आधार पर एक छापेमारी में आरोपियों को पकड़ लिया गया. पूछताछ में उन्होंने बताया कि कोरोना से पैदा हुए संकट में उन्होंने लोगों को ठगने का फैसला लिया. इसके लिए ऑक्सीजन सिलिंडर की जगह फायर सिलिंडर बेचने की योजना बनाई.