COVID- 19 in India: दिल्ली में ऑक्सीजन संकट पर मंगलवार (27 अप्रैल, 2021) को हाईकोर्ट (Delhi High Court) में सुनवाई हुई. इसमें कई हॉस्पिटलों ने पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की सप्लाई ना मिलने पर शिकायत की. हॉस्पिटलों ने कहा कि उन्हें ऑक्सीजन की जितनी मात्रा उपलब्ध कराई गई उसे कम कर दिया गया. अब उनके पास ऑक्सीजन नहीं है. इस संबंध में कोर्ट ने ऑक्सीजन सिलिंडर रिफिल (Oxygen Cylinder Refillers) करने वालों को अवमानना का नोटिस जारी किया है. ये आज कोर्ट में सुनवाई के दौरान हाजिर भी नहीं हुए.Also Read - दिल्लीः वंदे मातरम को राष्ट्रगान के समान दर्जा की उठी मांग, भाजपा नेता ने हाई कोर्ट में दाखिल की याचिका

कोर्ट ने कहा कि हमें आश्चर्य है कि इस संबंध में दिल्ली सरकार के आदेश पर सिलिंडर रिफिलरों ने ध्यान नहीं दिया. सुनवाई के दौरान कोर्ट ने नोट किया कि सिलिंडर रिफिलर्स को पर्याप्ता मात्रा में आपूर्ति की जाती है, मगर इनसे आगे की आपूर्ति की निगरानी के संबंध में कोई तंत्र नहीं है. Also Read - भारत में Omicron के सब वेरिएंट BA.5 के एक और मरीज की पुष्टि, दक्षिण अफ्रीका से वडोदरा आया था शख्स

दिल्ली में ऑक्सीजन की कालाबारी पर भी कोर्ट ने नाराजगी की. इसने कहा कि लोगों को मजबूर होकर कुछ सौ रुपए का ऑक्सीजन सिलिंडर लाखों रुपए में खरीदना पड़ रहा है. इसके साथ ही कालाबाजारी करने वालों को हिरासत में लेने को कहा है. कोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा कि आपके पास कार्रवाई करने की शक्तियां हैं. Also Read - सऊदी अरब में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले, भारत समेत इन देशों में यात्रा करने पर लगा प्रतिबंध

ऑक्सीजन मामले में सुनवाई के दौरान कोर्ट ने दिल्ली सरकार को फटकार भी लगाई. इसने कहा कि अगर ‘आप’ सरकार स्थिति नहीं संभाल पा रही है तो इसके लिए केंद्र को कहेंगे. कोर्ट ने कहा कि दिल्ली सरकार को ऑक्सीजन के डिस्ट्रिब्यूशन के लिए ही नहीं ऑक्सीजन सिलिंडर्स के लिए भी कमर कसनी चाहिए.

मालूम हो कि राजधानी दिल्ली में कोरोना मरीजों की दवाईयां पाने के लिए भी लोगों को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. सफदरजंग और AIIMS अस्पताल में दवा लेने के लिए लोग लंबी लाइन में लगे हैं. यहां एक व्यक्ति ने एएनआई से कहा, ‘हम रेमडेसिविर इंजेक्शन लेने आए हैं. कई लोग यहां 3 दिन से इंतजार कर रहे हैं. वे दवा के लिए यहीं सो रहे हैं लेकिन दवा उनको भी नहीं मिल पा रही है.

इसी तरह सरदार पटेल कोविड केंद्र के बाहर लोग मरीजों को भर्ती कराने के लिए खड़े हैं. एक व्यक्ति ने कहा, ‘पड़ोस के 2 मरीजों को लेकर आया हूं. हम नोडल ऑफिसर को फोन कर रहे हैं, कहीं से कोई रिस्पॉन्स नहीं आ रहा है. रजिस्ट्रेशन के बाद कोई सूचना नहीं मिली. कोई हमारी सुन नहीं रहा है.

देश में एक दिन में 3,23,144 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद मंगलवार को संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,76,36,307 हो गयी जबकि राष्ट्रीय स्तर पर ठीक होने की दर गिरकर 82.54 फीसदी हो गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि संक्रमण से 2,771 और लोगों के दम तोड़ने से मृतक संख्या बढ़कर 1,97,894 हो गई है.