नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार को 81 स्थानों पर कोविड-19 टीकाकरण की तैयारियां हैं और महामारी के खिलाफ लड़ाई में अग्रिम मोर्चे पर तैनात स्वास्थ्यकर्मियों को सबसे पहले टीका दिया जाएगा. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की मौजूदगी में एक सादे समारोह में एलएनजेपी अस्पताल से टीकाकरण अभियान की शुरुआत की जाएगी.Also Read - Haryana में कोरोना पाबंदियों में ढील, 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स; स्कूलों को लेकर यह हुआ फैसला

81 स्थलों में केंद्र सरकार के छह अस्पताल– एम्स, सफदरजंग अस्पताल, आरएमएल अस्पताल, कलावती शरण बाल चिकित्सालय और दो ईएसआई अस्पताल शामिल हैं. शेष 75 केंद्र दिल्ली के 11 जिलों में हैं जिनमें एलएनजेपी अस्पताल, जीटीबी अस्पताल, राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, डीडीयू अस्पताल के अलावा मैक्स अस्पताल, फोर्टिस अस्पताल, अपोलो अस्पताल और सर गंगाराम अस्पताल जैसे निजी चिकित्सा संस्थान भी शामिल हैं. Also Read - UP School News: योगी सरकार का आदेश- यूपी में स्कूल और सभी शिक्षण संस्थान 6 फरवरी तक रहेंगे बंद

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को कहा था कि ऑक्सफोर्ड का कोविड-19 टीका कोविशील्ड 75 केंद्रों पर लगाया जाएगा जबकि भारत बायोटेक का कोवैक्सीन शेष छह केंद्रों पर लगाया जाएगा. केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली सरकार 16 जनवरी से टीकाकरण की शुरुआत करने के लिए पूरी तरह तैयार है और राष्ट्रीय राजधानी में हर तय दिन को 8000 से अधिक स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा. Also Read - Corona Update: देशभर में पिछले 24 घंटे में 2.50 लाख से ज्यादा नए मामले, 3.47 लाख ने संक्रमण को मात दी

उन्होंने कहा कि महानगर सरकार को अभी तक केंद्र से 2.74 लाख टीके की खुराक मिली है जो 1.2 लाख स्वास्थ्यकर्मियों के लिए पर्याप्त है. उन्होंने कहा, ‘‘हर व्यक्ति को दो डोज दिया जाएगा और केंद्र ने भंडार में दस फीसदी अधिक टीका दिया है ताकि टीके के शीशी के टूटने जैसी किसी दुर्घटना की स्थिति में इसका इस्तेमाल किया जा सके. दिल्ली में कुल 2.4 लाख स्वास्थ्यकर्मियों ने टीके के लिए पंजीकरण कराया है और अधिक खुराक के जल्द आने की संभावना है.’’

टीका हफ्ते के चार दिनों — सोमवार, मंगलवार, बृहस्पतिवार और शनिवार को लगाया जाएगा. उन्होंने कहा कि हर दिन एक स्थान पर सौ लोगों को टीका दिया जाएगा और उम्मीद जताई कि दिल्ली एवं देश के लोगों को वायरस से जल्द मुक्ति मिलेगी. दिल्ली में बृहस्पतिवार तक कोविड-19 के 6.31 लाख मामले सामने आए और 10,722 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें से 6,17,930 रोगियों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी मिल चुकी है. महानगर सरकार ने घोषणा की है कि दिल्ली के लोगों को नि:शुल्क टीका दिया जाएगा.