नई दिल्‍ली. दिल्ली-एनसीआर से ट्रकों के प्रवेश, निर्माण कार्य पर प्रतिबंध और पार्किंग के बढ़े हुए शुल्क वापस ले लिए गए हैं. पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम और नियंत्रण) प्राधिकरण (ईपीसीए) ने यह जानकारी दी है. दिल्‍ली में प्रदूषण के घटते स्‍तर के चलते ये निर्णय लिया था जिसे ईपीसीए ने गुरुवार को वापस ले लिया. 

Fog in delhi-ncr today | दिल्ली-NCR में कोहरे से बुरा हाल, IMA ने स्कूलों पर जारी किया अलर्ट

Fog in delhi-ncr today | दिल्ली-NCR में कोहरे से बुरा हाल, IMA ने स्कूलों पर जारी किया अलर्ट

Also Read - DDE Corridor: दिल्ली से देहरादून सिर्फ 2.30 घंटे में, मेरठ से लेकर हरिद्वार तक चमकेगी बीच के शहरों की सूरत

इसमें सबसे बड़ा फैसला दिल्‍ली में ट्रकों की एंट्री का था. दिल्‍ली में वायु प्रदूषण के चलते दिल्‍ली में ट्रकों की एंट्री को बैन कर दिया गया था. इस फैसले के बाद दिल्ली की अलग अलग सीमाओं पर करीब 70 हजार ट्रक इक्‍ट्ठा हो गए थे. हालांकि सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरमेंट (सीएसई) में एक शोधकर्ता व ईपीसीए के सदस्य उस्मान नसीम ने बताया कि ट्रकों के प्रवेश व निर्माण गतिविधियों से प्रतिबंध को हटा दिया गया है, लेकिन डीजल जनरेटर सेटों पर प्रतिबंध बरकरार है. Also Read - Delhi Air Quality: निर्माण गतिविधियों पर रोक के बावजूद दिल्ली की हवा अब भी 'बहुत खराब'

वहीं, दिल्‍ली में प्रदूषण के चलते एनजीटी ने निर्माण काम पर रोक लगाने का आदेश दिया था. गुरुवार को ईपीसीए ने इस फैसले को हटा दिया. यही नहीं, आम आदमी के लिए खासी मुसीबत बने 4 गुना पार्किंग शुल्क के फैसले को भी वापस लिया गया है. ईपीसीए के ये तीनों आदेश गुरुवार सुबह 8 बजे से लागू हो चुके हैं. Also Read - Omicron in India: दिल्ली के लोक नायक अस्पताल में होगा Omicron संक्रमितों का इलाज

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ईपीसीए प्रमुख को चिट्ठी लिखकर कहा कि प्रदूषण कम करने के लिए ऑड-ईवन की पहल सिर्फ दिल्ली में नहीं बल्कि उससे एनसीआर क्षेत्रों में भी लागू की जाए.