Delhi news: दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने परिवहन विभाग को नोटिस जारी कर एक लड़की के दोपहिया वाहन के लिए प्रदत्त पंजीकरण संख्या में ‘एसईएक्स’ अक्षर बदलने को कहा है. लड़की का कहना है कि इन अक्षरों के चलते उसे “अत्यधिक परेशानी” का सामना करना पड़ रहा है. डीसीडब्ल्यू ने विभाग से अपने जवाब में नई श्रृंखला के तहत पंजीकृत वाहनों की कुल संख्या का उल्लेख करने को भी कहा है. परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को कहा कि मामला सामने आने के बाद पूरी श्रृंखला को रोक दिया गया है.Also Read - Delhi's first electric BUS: दिल्ली की सड़कों पर दौड़ी पहली इलेक्ट्रिक बस, मुख्यमंत्री ने हरी झंडी दिखाकर लोगों से की अपील

आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल के हवाले से एक बयान में कहा गया, “यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोग इतने घटिया और अपमानजनक हो सकते हैं कि लड़की को इतना उत्पीड़न झेलना पड़ रहा है. मैंने परिवहन विभाग को इस समस्या के समाधान के लिए चार दिन का समय दिया है ताकि लड़की को और तकलीफ न हो.” उन्होंने कहा, “मैंने परिवहन विभाग को ‘सेक्स’ शब्द वाली इस आवंटन श्रृंखला में पंजीकृत वाहनों की कुल संख्या बताने के लिए कहा है.” नोटिस में, मालीवाल ने विभाग से ऐसी सभी शिकायतों का ब्योरा भी मांगा हैं. Also Read - Weekend Curfew in Delhi: राजधानी में अगले 55 घंटे तक गैर-आवश्यक गतिविधियों पर रहेगी रोक

दिल्ली में दोपहिया वाहनों को ‘एस’ अक्षर से दर्शाया जाता है. और वर्तमान में, दोपहिया वाहनों के पंजीकरण के लिए प्रचलन में दो अक्षर ‘ई’ और ‘एक्स’ हैं. इसलिए, इन दिनों दिल्ली में दोपहिया वाहनों की नंबर प्लेट पर ‘एस’ अक्षर और उसके बाद ‘ईएक्स’ लिखा होता है. परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि जिस किसी के पास इस सीरीज में रजिस्ट्रेशन नंबर है, वह इसे बदलवा सकता है. Also Read - IED in Ghazipur Flower Market: गाजीपुर फूल मंडी में मिले आईईडी में कराया गया नियंत्रित ब्लास्ट

(इनपुट भाषा)