Delhi CoronaVirus: दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों और ध्वस्त होती स्वास्थ्य सेवाओं के बीच दिल्ली की केजरीवाल सरकार को उनके ही एक विधायक ने तगड़ा झटका दिया है. दिल्ली के मटियामहल से विधायक शोएब इकबाल ने हाईकोर्ट से अपील की है कि दिल्ली में अव्यवस्था फैल गई है और यहां राष्ट्रपति शासन लगाया जाए. एमएल ने कहा है कि यहां मौजूदा स्थिति अब नियंत्रण से बाहर हो गई है, अगर नहीं संभाला गया तो यहां लाशें बिछ जाएंगी.Also Read - Bharat Bandh: जातिगत जनगणना-महंगाई के खिलाफ आज भारत बंद का नहीं दिख रहा असर

दिल्ली के मटियामहल से विधायक शोएब इकबाल की शिकायत है कि दिल्ली में मरीजों को न दवा मिल रही है और न ही अस्पताल व ऑक्सीजन. यहीं के अस्पतालों में किसी की कोई सुनवाई नहीं हो रही और लोगों की जानें जा रही हैं. ऐसा उन्होंने इसलिए कहा है कि उनके एक मित्र कोरोना की जंग लड़ रहे हैं और उन्हें चिकित्सकीय सुविधा नहीं मिल पा रही है. उन्होंने कहा कि उन्हें बेहद दुख है कि वह किसी की मदद नहीं कर पा रहे हैं,  छह बार विधायक होने के बाद भी उनकी कोई सुनवाई नहीं है. Also Read - भगवंत मान ने करप्शन के आरोप में मंत्री को हटाया तो बोले केजरीवाल- 'आपकी कार्रवाई ने मेरी आखों में आंसू ला दिये'

आम आदमी पार्टी के विधायक का कहना है कि कोरोना से दिल्ली में स्थित बदतर हो गई है और कोई काम नहीं हो रहा है. दिल्ली में कोई किसी की सुनने वाला नहीं है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में ना बेड है, ना ऑक्सिजन है, ना दवाइयां मिल रही है.  ऐसे में दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर हाई कोर्ट ने ऐसा नहीं किया तो दिल्ली की सड़कों पर लाशें बिछ जाएंगी. Also Read - दिल्लीवासियों के लिए खुशखबरी! इलेक्ट्रिक बसों में अगले 3 दिनों तक फ्री में कर सकेंगे यात्रा

शोएब इकबाल ने ऐसी मांग इसलिए रखी है क्योंकि उनका कहना है कि दिल्ली को केंद्र का सहयोग नहीं मिल रहा है, अगर केंद्र के हाथ में सबकुछ आए तो काम हो पाएगा. तीन माह के लिए दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगना ही चाहिए.