Delhi Covid-19 Vaccine Information: दिल्ली में 1 मई से 18 से 44 वर्ष की आयु के लोगों को कोरोना से बचाने वाली वैक्सीन लगाई जानी थी. हालांकि फिलहाल यह वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू नहीं किया जा सकेगा. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) के मुताबिक दिल्ली को कोरोना की रोकथाम करने वाली यह वैक्सीन अभी तक मुहैया नहीं कराई गई है. यही कारण है 1 मई से यह वैक्सीनेशन कार्यक्रम नहीं चलाया जा सकेगा. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी दिल्ली सरकार (Delhi Government) के पास वैक्सीन उपलब्ध नहीं है. इसलिए 18 से 44 साल के ऐसे लोग जिन्होने वैक्सीनेशन के लिए अपना ऑनलाइन पंजीकरण कराया वह एक मई से वैक्सीन लेने के लिए वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर लाइन ना लगाएं.Also Read - दिल्ली की तर्ज पर पंजाब में खुलेंगे पंजाब में मोहल्ला क्लिनिक, भगवंत मान ने कहा- 15 अगस्त से शुरू करेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैक्सीनेशन को लेकर लोगों को अच्छा रेस्पॉन्स मिला है. लेकिन टीकाकरण के लिए दिल्ली सरकार को अभी वैक्सीन नहीं मिली है. हमलोग वैक्सीन के लिए वैक्सीन निर्माता कंपनी से संपर्क बनाए हुए हैं. अगले दो-तीन दिन में वैक्सीन मिलने की उम्मीद है जिसके बाद यह टीकाकरण कार्यक्रम शुरू किया जाएगा. Also Read - दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा- राशन लेने के लिए कतार में लगना गरिमा और निजता के अधिकार के खिलाफ नहीं

मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों वैक्सीन निर्माता कंपनियों सीरम इंस्टीट्यूट (SII) और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) को 67.67 लाख डोज के ऑर्डर दिए गए हैं. दोनों कंपनियां अगले तीन महीने में यह सारी वैक्सीन देंगी. हम दिल्ली वालों को फ्री वैक्सीन लगवाएंगे. यह वैक्सीनेशन ड्राइव तीन महीने के भीतर पूरी कर ली जाएगी. Also Read - दिल्ली सरकार को बड़ा झटका, हाईकोर्ट ने ‘मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना’ को रद्द किया

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि मेरा निवेदन है कि आप लोग एक मई को वैक्सीनेशन सेंटर्स पर लाइन में ना लगें. इससे कानून व्यवस्था ना गड़बड़ाने दें. साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग भी प्रभावित नहीं होनी चाहिए. जैसे ही वो वैक्सीन आएगी हम घोषणा करके आपको बताएंगे. दिल्ली सरकार का कहना है कि वैक्सीन के लिए हमने कंपनी से अनुरोध किया है. कंपनी जैसे ही वैक्सीन दे देती है, हम सभी को वैक्सीन लगाएंगे.

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की तरफ से वैक्सीनेशन को लेकर सभी तैयारियां की जा चुकी हैं, लेकिन उसके लिए वैक्सीन का उपलब्ध होना जरूरी है. अभी हमारे पास वैक्सीन नहीं है. जैसे ही कंपनियां हमें एक शेड्यूल दे देती हैं कि कितनी कितनी वैक्सीन कब कब देंगे, तो हम तुरंत वैक्सीनेशन शुरू कर देंगे. (आईएएनएस)