Delhi News: देश की राजधानी दिल्ली ने लगता है कोरोना को मात दे दी है. दिल्ली में कोरोना का ग्राफ करीब एक महीने से स्थिर है. प्रतिदिन के मामले जहां 100 से नीचे हैं और संक्रमण दर भी 0.50 प्रतिशत से कम बनी हुई है, वहीं पिछले 24 घंटे में एक बार फिर कोरोना के मात्र 51 नए मरीज मिले हैं और संक्रमण से एक भी मौत नहीं हुई है. ये एक बड़ी राहत की बात है, क्योंकि देशभर में कोरोना के हालातों को देखें तो अन्य बड़े राज्यों की तुलना में दिल्ली में स्थिति सबसे बेहतर है. देश में जहां संक्रमण दर बढ़ रहा है वहीं दिल्ली में संक्रमितों का आंकड़ा महज 0.10 फीसदी है.Also Read - Delhi Unlock Update: अनलॉक के अगले चरण में कहां-कहां मिलेगी राहत, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दी जानकारी...

वहीं, दिल्ली में कोरोना वायरस की घटती संख्या को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि राजधानी में करीब चार सप्ताह से संक्रमण बेदम है, लेकिन अन्य राज्यों में संक्रमितों का बढ़ना चिंता की बात है. इसे देखते हुए दिल्ली में अब लोगों को अधिक सतर्क रहने की जरूरत है. Also Read - Kerala Lockdown: एक दिन में कोरोना से 153 मौतें, केरल में फिर से लगा सख्त लॉकडाउन, नई गाइडलाइन जारी

Also Read - CoronaVirus Latest Update: 24 घंटे में मिले 30,948 नए कोरोना मरीज, 403 की गई जान, 8 राज्यों में जारी है Lockdown

दिल्ली में बेदम हुआ कोरोना 

दिल्ली में पिछले चार सप्ताह में कुल 1796 मामले आए और 59 मरीजों की मौत हुई. लिहाजा, रोजाना औसतन 65 संक्रमित मिले और दो मौत हुई हैं. इस साल ऐसा पहली बार है कि जब करीब चार सप्ताह तक नए मामले औसतन 70 से नीचे हैं. सक्रिय मरीज भी 550 से 600 के बीच बने हुए हैं. रोजाना करीब 75 हजार जांच पर भी संक्रमण दर 0.50 फीसदी से नीचे बनी हुई है.

वायरस की रफ्तार हुई है कम, लापरवाही पड़ सकती है भारी

डॉक्टरों का कहना है कि दिल्ली में वायरस फिलहाल काबू में है, लेकिन इसी तरह नियमों का पालन करने की जरूरत है. अगर लापरवाही बरती गई तो अगले कुछ सप्ताह में कोरोना के मामले फिर बढ़ सकते हैं. अभी यह समझना होगा कि वायरस का प्रसार कम हुआ है, खत्म नहीं हुआ है. जितनी अधिक सावधानी बरती जाएगी तीसरी लहर के खतरे को उतना ही कम किया जा सकेगा. देश के कई राज्यों में मामले बढ़ रहे हैं. ऐसे में वहां से दिल्ली में भी संक्रमण का प्रसार हो सकता है. लोगों को बेवजह भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचना चाहिए.