Lockdown Extended In Delhi: देश की राजधानी दिल्ली में जारी कोरोना के कहर को देखते हुए लॉकडाउन (Delhi Lockdown) को एक हफ्ते के लिए बढ़ा दिया गया है. दिल्ली में अब 17 मई तक लॉकडाउन (Delhi Lockdown Timing) रहेगा. साथ ही इस बार के लॉकडाउन को पहले से सख्त बनाया गया है. दिल्ली में सोमवार यानी 10 मई से मेट्रो सेवा पर रोक रहेगी. मालूम हो कि राष्ट्रीय राजधानी में बीते 19 अप्रैल से लॉकडाउन है, जिसे केजरीवाल (Arvind Kejriwal) सरकार की तरफ से चौथी बार बढ़ाया गया है. Also Read - Delhi Metro News: दिल्ली मेट्रो में बंदर का वीडियो हुआ वायरल, DMRC ने उठाया यह बड़ा कदम

लॉकडाउन के दौरान कोरोना के नए मामलों में काफी कमी आई है और पॉजिटिविटी रेट में भी काफी गिरावट दर्ज की गई है. ऐसे में केजरीवाल लॉकडाउन को हटाकर कोई रिस्क लेना नहीं चाहते इसलिए इसे बढ़ा दिया गया है. बता दें कि दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान लागू बंदिशें आगे भी जारी रहेंगी. Also Read - पंजाब में 'AAP' किसे बनाएगी सीएम पद का उम्मीदवार, अमृतसर में अरविंद केजरीवाल ने दिया ये जवाब

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लॉकडाउन के बाद से कोरोना के नए केस कम होने लगे हैं पॉजिटिविटी रेट भी कम होने शुरू हो गए हैं. अब पॉजिटिविटी रेट 23 फीसदी पर आ गया है. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में सबसे ज्यादा दिक्कत ऑक्सीजन को लेकर आई है. यहां कई गुना ऑक्सीजन की जरूरत अचानक बढ़ गई. बीते कई दिनों में दिल्ली में अब ऑक्सीजन की स्थिति सुधरी है.

उन्होंने कहा कि बीते कुछ दिनों में मेरी व्यापारियों, महिलाओं और अलग-अलग लोगों से बात हुई है. सबका यही मानना है कि लॉकडाउन को थोड़ा और आगे बढ़ाने की जरूरत है. नहीं तो जो हमने हासिल किया है उसका भी कोई फायदा नहीं रह जाएगा. सबसे ज्यादा अहम इस समय जिंदगी बचाना है. सरकार ने मजबूरी बस एक हफ्ते का लॉकडाउन फिर बढ़ा दिया है. कल से दिल्ली में मेट्रो भी चलना बंद

उधर, एक सर्वे में भी यह बताया गया था कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 85 फीसदी दिल्ली वाले लॉकडाउन की अवधि (Delhi Lockdown Timing) कम से कम एक हफ्ते बढ़ाने के पक्ष में थे. इसके अलावा 47 प्रतिशत ने तीन हफ्ते लॉकडाउन (Delhi Lockdown Extension) बढ़ाने के पक्ष में राय दी थी. ये राय ऑनलाइन मंच लोकलसर्कल के सर्वेक्षण में आई है. यह सर्वेक्षण 6 से 8 मई के बीच कराया गया था. सर्वे में शामिल 84 प्रतिशत लोग चाहते हैं कि बिना संपर्क सभी सामान की घर में आपूर्ति करने की अनुमति दी जाए, जिससे कारोबार चलता रहे है और ग्राहकों को भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़े.

बता दें कि दिल्ली में शनिवार को कोविड-19 से 332 और मौतें हुईं और संक्रमण के 17,364 नए मामले सामने आए. यह लगातार तीसरा दिन था जब संक्रमण दर 25 प्रतिशत से नीचे रही. स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. पिछले छह दिनों में यह 5वीं बार है कि यहां कोरोना वायरस के रोजाना मामले 20000 से नीचे रहे हैं. राष्ट्रीय राजधानी में अब संक्रमितों की संख्या बढ़कर 13,10,231 हो गई.

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी आंकड़े के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार को कोरोना वायरस के 19,832, गुरुवार को 19,133, बुधवार को 20,960, मंगलवार को 19,953, सोमवार को 18,043, रविवार को 20,394, शनिवार को 25,219, शुक्रवार को 27,047, पिछले गुरुवार को 24,235, और पिछले बुधवार को 25,986 नये मामले सामने आये थे.

बुलेटिन के अनुसार, आज संक्रमण दर 23.34 प्रतिशत रही, जो 16 अप्रैल के बाद से सबसे कम है. उस दिन संक्रमण दर 19.7 फीसद थी. उसके अगले दिन 17 अप्रैल को यह 24.6 फीसद थी. आंकड़े के हिसाब से राजधानी में शुक्रवार को संक्रमण दर 24.92%, गुरुवार को 24.29%, बुधवार को 26.37%, मंगलवार को 26.73 और सोमवार को 29.56%, रविवार को 28.33%, शनिवार को 31.6%, शुक्रवार को 32.7% और पिछले गुरुवार को 32.8 प्रतिशत थी.यहां 22 अप्रैल को सर्वाधिक 36.2 फीसद संक्रमण दर थी.