Delhi Lockdown: दिल्ली में कब लॉकडाउन लगेगा और कब क्या खुलेगा? इसे लेकर अब संशय की स्थिति नहीं रहेगी. इसे लेकर दिल्ली आपदा प्रबंधन अथॉरिटी (DDMA) की शुक्रवार को हुई बैठक में ‘ग्रेडेड रेस्पॉन्स एक्शन प्लान’ (Graded Response Action Plan) को मंजूरी दे दी गई है. दिल्ली के एलजी अनिल बैजल  (LG Anil Baijal) की अध्यक्षता में हुई बैठक में कोरोना की संभावित तीसरी लहर (CoronaVirus Third Wave) की तैयारियों को लेकर विस्तार से चर्चा के बाद इस प्लान को मंजूरी दे दी गई है.Also Read - Delhi Unlock New Guidelines: अब कल से पहले जैसी दिखेगी दिल्ली, खुल जाएंगे सिनेमा हॉल-थियेटर-मल्टीप्लेक्स, जानिए पूरी खबर

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal)ने बैठक के बाद बताया कि ये कैसे काम करेगा. उनहोंने कहा कि एक्शन प्लान में स्पष्ट है कि कोरोना के केस बढ़ने  की स्थिति में शहर में क्या-क्या एक्टिविटीज बंद हो जाएंगी. इस प्लान के मुताबिक, लगातार दो दिनों तक संक्रमण दर 0.5 प्रतिशत रहने पर सख्ती शुरू हो जाएगी और अगर संक्रमण दर दो दिन तक 5 प्रतिशत या इससे अधिक रहती है, तो सबसे अधिक सख्ती होगी. केजरीवाल ने बताया कि किस तरह से कलर कोड पर आधारित यह एक्शन प्लान बनाया गया है. Also Read - Delhi: एलजी अनिल बैजल ने दिल्ली पुलिस कमिश्‍नर को दिया NSA लगाने का अधिकार

सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया Also Read - Delhi Unlock Update: केजरीवाल सरकार से बोले नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल, अगले तीन महीने काफी महत्वपूर्ण

अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया कि डेल्टा प्लस वैरिएंट को दिल्ली में फैलने से रोकना है. इसके साथ ही एलजी अनिल बैजल ने भी ट्वीट कर बताया कि बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि टेस्ट, ट्रीट और ट्रैक की रणनीति पर गंभीरता से काम किया जाए और माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने पर खास फोकस किया जाए.

सीएम ने कहा कि दिल्ली सरकार डेल्टा प्लस वैरिएंट को फैलने से रोकने के लिए हर जरूरी कदम उठा रही है. सीएम ने कहा कि ग्रेडेड रेस्पॉन्स एक्शन प्लान पास होना एक महत्वपूर्ण कदम है. जब यह प्लान जनता के बीच चला जाएगा, तो उन्हें पता रहेगा कि कितने केस बढ़ने पर लॉकडाउन लगेगा और कितने केस घटने पर लॉकडाउन खुलता जाएगा.

चार कलर कोड में बना है ये एक्शन प्लान
ग्रेडेड रेस्पॉन्स एक्शन प्लान को चार कलर कोड में बांटा गया है. पहले लेवल का कलर कोड पीला है, दूसरे लेवल का कलर कोड अंबर है. तीसरा लेवल ऑरेंज और चौथा लेवल रेड कलर का है।. चौथा लेवल ज्यादा केसों की स्थिति को दिखाता है और उस स्थिति में ज्यादातर एक्टिविटीज बंद हो जाएंगी.