Top Recommended Stories

Delhi Lockdown: दिल्ली में थम रही कोरोना की रफ्तार! पाबंदियों में कब मिलेगी ढील? जानें क्या बोले स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन

Delhi Lockdown Update: दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि अगले 3-4 दिनों में कोरोना के हालात और पाबंदियों (Delhi Lockdown Update) की समीक्षा की जाएगी.

Published: January 16, 2022 4:05 PM IST

By Parinay Kumar

Delhi Lockdown News
Delhi Lockdown News

Delhi Lockdown Update: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कमी देखने को मिली है. दिल्ली में एक समय 28 हजार तक पहुंच चुके आंकड़ों में कमी सामने आई है. कोरोना के मामलों में कमी आने के बाद राजधानी में कोरोना पाबंदियों में ढील दी जा सकती है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि अगले 3-4 दिनों में कोरोना के हालात और पाबंदियों (Delhi Lockdown Update) की समीक्षा की जाएगी. सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को कोरोना संक्रमण के लगभग 17,000 मामले आ सकते हैं. जैन ने कहा कि दिल्ली में संक्रमण दर में भी गिरावट मिलने की संभावना है. पिछले दो दिनों से दिल्ली में दैनिक मामले 28,000 से नीचे बने हुए हैं. गुरुवार को दिल्ली में कोरोना के सभी पुराने मामलों का रिकॉर्ड टूटा था और महामारी की शुरुआत के बाद पहली बार 28,867 मामले दर्ज किए गए थे. हालांकि उसके बाद से मामले कम हो रहे हैं.

Also Read:

सत्येंद्र जैन ने कहा कि अस्पतालों में मरीजों को भर्ती कराने की दर स्थिर हुई है. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की तरफ से लगाए गए प्रतिबंधों ने कोविड-19 के प्रसार पर असर डाला है, पाबंदियां की समीक्षा से पहले तीन से चार दिन तक स्थिति की निगरानी की जाएगी. जैन ने शनिवार को कहा था कि ऐसा लगता है कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 महामारी अपने चरम पर पहुंच चुकी है और जब संक्रमण के मामले घटकर 15 हजार तक आ जाएंगे तो सरकार पाबंदियों में ढील देने पर विचार करेगी.

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में शनिवार को कोविड-19 के 20,718 नए मामले और 30 मरीजों की मौत दर्ज की गई जबकि संक्रमण की दर 30.64 प्रतिशत दर्ज की गई. वहीं, सत्येंद्र जैन ने राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की कथित ‘कम’ जांच की चिंताओं को दूर करने की कोशिश के तहत दावा किया कि यहां पर ICMR की सिफारिश से तीन गुना अधिक नमूनों की जांच की जा रही है.

उन्होंने कहा कि जिनकी जांच करने की जरूरत है उनकी जांच की जा रही है. केंद्र सरकार के नए दिशा निर्देश के मुताबिक बिना लक्षण वाले लोगों को जांच कराने की जरूरत नहीं है. साथ ही प्रयोगशाला की जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए व्यक्तियों के संपर्क में आए लोगों को भी तबतक जांच कराने की जरूरत नहीं है जबतक उन्हें कोई सहरूगण्ता नहीं है या उनकी उम्र 60 साल से अधिक नहीं है. जैन ने कहा कि नए दिशानिर्देश सोच विचार कर तैयार किए गए हैं.

बता दें कि दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगाया गया है हालांकि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए कई पाबंदियां लागू हैं. दिल्ली में दुकानें ऑड-ईवन के आधार पर खुल रही हैं और केवल 20 लोगों को शादियों और अंतिम संस्कार में शामिल होने की इजाजत है. जरूरी सेवाओं को छोड़कर सरकारी और प्राइवेट क्षेत्रों के कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए कहा गया है.

(इनपुट: ANI)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें दिल्ली की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 16, 2022 4:05 PM IST