Delhi Me Kab Khulenge School or College: देश में कोरोना संक्रमण के खिलाफ स्थिति नियंत्रित होने के बाद कई राज्यों ने स्कूल-कॉलेज खोलने की घोषणा कर दी है. कई राज्यों में एक अगस्त से छात्र स्कूल-कॉलेज आ सकेंगे. इस बीच दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने स्कूल और कॉलेज (Delhi School and College Reopening Date) खोलने के संबंध में आज बुधवार को अहम प्रेस कॉन्फ्रेंस की.Also Read - Delhi Me Kab Khulenge School: क्या दिल्ली में खुलेंगे 8वीं तक के सभी स्कूल, DDMA की बैठक में हुआ यह फैसला

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खतरे के बीच स्कूल खोलने का विचार जानने के लिए सभी सरकारी स्कूलों में बच्चों के माता-पिता को बुलाया गया. इनमें पांच लाख से ज्यादा अभिभावक शिक्षकों से मुलाकात कर जा चुके हैं. दिल्ली की डिप्टी सीएम सिसोदिया ने कहा कि छात्रों के मां-बाप चाहते हैं कि स्कूल खोले जाएं, मगर उनमें कोरोना से सुरक्षा को लेकर चिंताएं भी हैं. Also Read - Delhi Me Kab Khulenge Schools: दिल्ली में कब खुलेंगे जूनियर क्लास के स्कूल, आज हो सकता है फैसला

उन्होंने कहा कि कॉलेज के छात्रों से भी मुलाकात हुई, जिनका पहला और अब दूसरा साल भी घरों में बैठे ही बीत रहा है. आसपास के राज्यों में भी स्कूल-कॉलेज खुलने लगे हैं. कई राज्यों में जुलाई से स्कूल खुले और अब एक अगस्त से भी कई राज्यों में छात्रों को बुलाया जा रहा है. Also Read - Delhi Me School Kab Khulenge: क्या दिल्ली में जल्द खुलेंगे छठी से 8वीं के स्कूल? जानें ताजा अपडेट...

सिसोदिया ने राष्ट्रीय राजधानी में स्कूल-कॉलेज खोलने के संकेत देते हुए कहा कि दिल्ली में अब कोरोना के केस लगातार घट रहे हैं और प्रतिदिन संक्रमितों की संख्या घटकर 40-70 के बीच रह गई है. उन्होंने कहा कि ऐसे में स्कूल-कॉलेज खोलने पर सरकार कोई निर्णय ले, इससे पहले छात्रों, उनके अभिभावकों और शिक्षकों का सरकार पक्ष जानना चाहती है. क्या अब स्कूल और कॉलेज खोल देने चाहिए? किस तरह से खोलने चाहिए, इसपर आपके सुझाव किया हैं.

सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में स्कूल और कॉलेज खोलने से पहले मैं स्कूल और कॉलेज के छात्रों, प्रिंसिपल, शिक्षकों और माता-पिता से पूछना चाहता हूं कि क्या अब हमें स्कूल और कॉलेज खोल देना चाहिए? अगर खोलना चाहिए तो आपके इस पर क्या सुझाव हैं? आप अपने सुझाव ‘delhischools21@gmail.com’ पर भेज सकते हैं. आपके सुझाव के आधार पर हम निर्णय लेंगे.