नई दिल्ली: नए साल के पहले दिन बड़े जमावड़े की आशंका के चलते शुक्रवार दोपहर मध्य दिल्ली के चार मेट्रो स्टेशनों के निकास द्वार बंद कर दिए गए. नए साल के मौके पर बड़ी संख्या में लोग खरीदारी, सैर सपाटे के लिए कनॉट प्लेस, खान मार्केट और अन्य जगहों पर आते हैं.Also Read - प्रदूषण से निपटने के दिल्ली मेट्रो का खास प्लान, अधिक एंटी-स्मॉग गन तैनात करेगी DMRC

हालांकि, कोविड-19 की स्थिति, खासकर हाल में वायरस के नए स्वरूप के मामले आने के कारण प्रशासन ने लोगों से एक जगह एकत्र नहीं होने और भीड़ भाड़ से बचने का आग्रह किया है. Also Read - Supreme Court On DMRC: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की DMRC की समीक्षा याचिका, रिलायंस इंफ्रा की याचिका पर 6 दिसंबर को होगी सुनवाई

दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने ट्वीट किया, ‘‘खान मार्केट, सुप्रीम कोर्ट, केंद्रीय सचिवालय और मंडी हाउस के निकास द्वार बंद हैं. इन स्टेशनों पर प्रवेश और मेट्रो बदलने की अनुमति दी गयी है.’’ Also Read - Delhi Pollution: दिल्ली में प्रदूषण के बीच खुले स्कूल, सुप्रीम कोर्ट ने AAP सरकार से किया सवाल

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि महामारी के मद्देनजर मास्क पहनने और उचित दूरी बनाए रखने जैसे नियमों का पालन किया जाना जरूरी है और लोगों को एकत्र होने से बचना चाहिए.

दिल्ली सरकार ने 31 दिसंबर और एक जनवरी को रात 11 बजे से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाने की घोषणा की थी ताकि कोविड-19 और ज्यादा संक्रामक नए स्वरूप के वायरस के मद्देनजर नववर्ष के दौरान जमावड़ा ना हो.

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने अपने आदेश में कहा था, नए साल का जश्न मनाने लिए जमा होने वाली भीड़ के मद्देनजर यह आदेश जारी किया गया है. भीड़ के चलते कोरोनावायरस संक्रमण के फैलने का खतरा है.

आदेश के मुताबिक, एक समय में पांच से अधिक लोग सार्वजनिक स्थान पर इकट्ठा नहीं हो सकते हैं. दिल्ली के किसी भी सार्वजनिक स्थान पर नए साल के जश्न की अनुमति नहीं होगी. जिन रेस्तराओं के पास लाइसेंस हैं, वे इस प्रतिबंध के दायरे में नहीं आएंगे.