Delhi News Update: सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त ऑडिट पैनल की रिपोर्ट का हवाला देते हुए दिल्ली भाजपा नेताओं ने आज शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन (Delhi Oxygen) की कमी से हुई मौतों के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) को जिम्मेदार ठहराया है. केजरीवाल ने भाजपा के इन आरोपों का जवाब दिया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि दो करोड़ लोगों की सांसों के लिए लड़ना उनका गुनाह है.Also Read - दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने अब राघव चड्ढा की गिरफ्तारी की जताई आशंका, Tweet कर वजह भी बताई...

दिल्ली के सीएम ने कहा, ‘मेरा गुनाह- मैं अपने 2 करोड़ लोगों की सांसों के लिए लड़ा. जब आप चुनावी रैली कर रहे थे, मैं रात भर जग कर Oxygen का इंतजाम कर रहा था. लोगों को ऑक्सीजन दिलाने के लिए मैं लड़ा, गिड़गिड़ाया. लोगों ने ऑक्सीजन की कमी से अपनों को खोया है. उन्हें झूठा मत कहिए, उन्हें बहुत बुरा लग रहा है.’ Also Read - Delhi Yamuna Level: दिल्ली में यमुना के जलस्तर में गिरावट मगर अब भी खतरे के निशान से ऊपर

दरअसल पैनल की रिपोर्ट पर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा (BJP Spokesperson Sambit Patra) ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ‘दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के कारण कई लोगों की जान चली गई है और इन मौतों के लिए अरविंद केजरीवाल जिम्मेदार हैं.’ उन्होंने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट केजरीवाल को जवाबदेह ठहराएगा और उनके द्वारा किए गए अपराध के लिए उन्हें सजा देगा.’ Also Read - दिल्ली के मेहरौली में एयर होस्टेस से घर में घुसकर रेप, पीड़िता ने आरोपी को घर में किया बंद और फिर...

पात्रा ने आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार राष्ट्रीय राजधानी में कोविड की दूसरी लहर के प्रबंधन में पूरी तरह से विफल रही है. उन्होंने कहा, ‘अरविंद केजरीवाल का काम सिर्फ एक फॉर्मूला 100 फीसदी विज्ञापन और शून्य फीसदी कोविड प्रबंधन पर होता है. केजरीवाल ने केवल विज्ञापन पर 1,000 करोड़ रुपए खर्च किए हैं. सबसे बड़ी बात यह है कि उन्होंने ऑक्सीजन की कमी के बारे में चार बार झूठ बोला है.’

उक्त रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दिल्ली सरकार ने कोविड की दूसरी लहर के चरम के दौरान अपनी ऑक्सीजन की मांग को चार गुना बढ़ा दिया, जिससे 12 राज्यों को आपूर्ति प्रभावित हुई. पात्रा ने कहा, ‘केजरीवाल के झूठ के कारण दिल्ली की मांग को पूरा करने के लिए 12 राज्यों में ऑक्सीजन की आपूर्ति कम कर दी गई थी. अगर इस ऑक्सीजन का इस्तेमाल दूसरे राज्यों में किया जाता तो कई लोगों की जान बचाई जा सकती थी. यह केजरीवाल द्वारा किया गया जघन्य अपराध है.’ (एजेंसी इनपुट)