Delhi Petrol-Diesel Price Reduce: देश के कई राज्यों ने केंद्र सरकार की तरह ही अपने प्रदेश में पेट्रोल और डीजल (Petrol-diesel price) पर वस्तु और सेवाकर (Value Added Tax) कम करने का निर्णय लिया है, जिससे उन प्रदेशों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें कम हो गई हैं. आज दिल्ली की केजरीवाल सरकार (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने भी बड़ा फैसला लेते हुए पेट्रोल और डीजल पर वस्तु और सेवाकर (Value Added Tax) कम करने का निर्णय लिया है, जिससे दिल्ली के आसपास-हरियाणा और एनसीआर के शहरों की तरह यहां भी पेट्रोल और डीजल अब आज आधी रात से सस्ता हो जाएगा.Also Read - Delhi Weekend Curfew Ends: दिल्ली में खत्म होगा वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या रहेगा खुला-क्या रहेगा बंद...

दिल्ली  कैबिनेट की बैठक में हुआ बड़ा फैसला Also Read - Delhi News: कोरोना के नए वैरिएंट Omicron ने बढ़ाई टेंशन, दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने बुलाई DDMA की अहम बैठक

आज दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने कैबिनेट की बैठक बुलाई और बैठक में पेट्रोल-डीजल से वैट कम करने का फैसला लिया गया. सीएम अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में हुई आज की कैबिनेट बैठक में पेट्रोल और डीजल पर वस्तु और सेवाकर (Value Added Tax) कम करने का निर्णय लिया गया जिसमें पेट्रोल पर वैट 30 प्रतिशत से घटाकर 19.40 प्रतिशत किया गया है. ऐसे में दिल्ली में अब पेट्रोल की कीमत 8 रुपये प्रति लीटर कम हो जाएंगी. नई कीमतें बुधवार आधी रात से लागू होंगीं. Also Read - Petrol Price Today: रहिए बेफिक्र-आज भी नहीं बढ़े हैं पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आपके शहर में क्या है रेट...

दिल्लीवालों की बल्ले-बल्ले

बता दें कि, दिल्ली से सटे हरियाणा और उत्तर प्रदेश के शहरों में पेट्रोल और डीजल पर वैट कम होने के कारण इनकी कीमतों में प्रति लीटर 5 रुपये का अंतर आ चुका है और  ऐसे में दिल्ली की जनत को इसके लिए ज्यादा पैसे चुकाने पड़ रहे हैं. इसे देखते हुए इन राज्यों से भी दिल्ली सरकार ने ज्यादा पेट्रोल और डीजल पर से वैट घटा दिया है और  यहां अब पेट्रोल 8 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो गया है, जिससे लोगों को बड़ी राहत मिली है. दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 103.97 रुपये प्रति लीटर है जबकि डीजल की कीमत 86.67 रुपये प्रति लीटर है.

पेट्रोल-डीजल डीलर्स एसोसिएशन ने लिखा था सीएम को खत

केंद्र सरकार के फैसले के बाद दिल्ली पेट्रोल-डीजल डीलर्स एसोसिएशन ने भी पिछले महीने अरविंद केजरीवाल से पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती की मांग की थी और इसके लिए उन्होंने पत्र लिखकर गुजारिश भी की थी. पत्र में कहा गया था कि इससे दिल्ली के डीलरों को खासा नुकसान हो रहा है.