नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) और दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के आवास पर धरना देने से दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने इनकार कर दिया है. आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने इसके लिए दिल्ली पुलिस से परमीशन मांगी थी. इसके बाद धरना देने जा रहे आप नेता राघव चड्ढा को हिरासत में ले लिया है. इसके साथ ही कई और विधायक भी हिरासत में लिए गये हैं. राघव चड्ढा सहित ये विधायक, नगर निगम (Delhi Nagar Nigam) में कथित घोटाले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग कर रहे हैं. इसी मांग को लेकर गृहमंत्री और उपराज्यपाल आवास के विधायक बाहर धरना देने जा रहे थे. Also Read - Delhi violence: ट्रैक्‍टर रैली के बवाल के बाद दिल्‍ली में पैरामिलिट्री फोर्सेस की अतिरिक्‍त कंपनियां होंगी तैनात

जिन विधायकों को हिरासत में लिया गया है उनमें दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा कुलदीप कुमार, ऋतुराज गोविंद, संजीव झा आदि शामिल हैं. राघव चड्ढा ने पुलिस द्वारा हिरासत में लिए जाने पर कहा, भाजपा शासित एमसीडी ने दिल्ली के इतिहास का सबसे बड़ा 2500 करोड़ रुपये का घोटाला किया. हमने गृह मंत्री अमित शाह से मिलने का समय मांगा तो उन्होंने मुझे मेरे आवास से ही गिरफ्तार कर लिया है. अमित शाह जी, आप अपनी पुलिस के दम पर अपनी पार्टी का भ्रष्टाचार क्यों दबाना चाहते हैं. Also Read - Farmers' Tractor Rally Live Updates: गृह मंत्रालय में हाई लेवल मीटिंग, आगे की रणनीति पर हो रही चर्चा

आप विधायक दुर्गेश पाठक ने कहा, दिल्ली के इतिहास में यह सबसे बड़ा घोटाला है. बीजेपी के नेताओ ने कर्मचारियों के वेतन के 2500 करोड़ रुपये का घपला किया है. अब हम गृह मंत्री और एलजी से इनके खिलाफ जांच की मांग कर रहे है तो हमारे विधायकों को घरों से गिऱफ्तार कर रहे है. Also Read - Farmers Protest: कानून-व्यवस्था की मौजूदा स्थिति के मद्देनजर दिल्ली-NCR के कई इलाकों में इंटरनेट सेवाएं बंद

आम आदमी पार्टी के एक अन्य विधायक कुलदीप कुमार को भी दिल्ली पुलिस ने रविवार सुबह हिरासत में ले लिया. कुलदीप कुमार ने कहा, ये तो तानाशाही है. हमें गृह मंत्री अमित शाह के घर पर निगम में हुए 2500 करोड़ रुपये के घोटाले की जांच की मांग हेतु जाना था. अमित शाह ने पुलिस को घर भेज कर हमें गिरफ्तार करा दिया. क्या देश में लोकतंत्र खत्म हो गया है.

गौरतलब है कि भाजपा के पार्षद मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरना दे रहे हैं. इसके जवाब में अब आम आदमी पार्टी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और दिल्ली के उपराज्यपाल आवास के बाहर धरना देना चाहती है. इसके लिए दिल्ली पुलिस से इजाजत भी मांगी गई है. ‘आप’ के मुताबिक जैसे पुलिस ने सीएम हाउस के बाहर धरना देने की इजाजत दी है उसी तरह गृहमंत्री और एलजी हाउस के बाहर भी धरना देने की इजाजत दी जाए.

आम आदमी पार्टी का आरोप है कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम में ढाई हजार करोड रुपए से अधिक से अधिक का घोटाला हुआ है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इस मामले में सचिव स्तर की जांच के आदेश दिए हैं. आम आदमी पार्टी इसकी जांच के लिए सीबीआई जांच की मांग कर रही है.