Delhi School Exam News: दिल्ली सरकार ने 8वीं कक्षा तक के छात्रों के आंकलन के लिए बुधवार को सभी सरकारी स्कूलों को दिशा-निर्देश जारी कर परीक्षाएं लेने से मना कर दिया. सरकार ने स्कूलों को छात्रों के ‘प्रोजेक्ट’ और ‘असाइमेंट’ के आधार पर परिणाम घोषित करने को कहा है. शिक्षा निदेशालय की ओर से जारी दिशा-निर्देश सरकारी और सरकार से सहायता प्राप्त स्कूलों के शिक्षण सत्र 2020-21 के लिए प्रभावी होगा. इस शिक्षण सत्र में कोविड-19 के कारण स्कूल लंबे समय तक बंद रहे और सारा पठन-पाठन ऑनलाइन हुआ. Also Read - टीकाकरण पर सियासत! वैक्सीन मांगने पर महाराष्ट्र, पंजाब और दिल्ली को मिला ये जवाब

दिल्ली में शिक्षा विभाग की अवर निदेशक रीता शर्मा ने बताया, ‘चूंकि प्राथमिक और मिडिल स्तर पर कक्षाओं में कोई पठन-पाठन नहीं हुआ है, ऐसे में सामान्य परीक्षाओं की जगह विषयवार प्रोजेक्ट और असाइनमेंट के माध्यम से तीसरी से आठवीं कक्षा तक के छात्रों का मूल्यांकन किया जाए.’ Also Read - School Kab Khulenge: कोरोना ने फिर बरपाना शुरू किया कहर तो बंद होने लगे स्कूल, जानें आपके राज्य का क्या है ताजा अपडेट...

दिशा-निर्देश के अनुसार, तीसरी से 5वीं कक्षा तक वर्कशीट पर 30 अंक, सर्दियों की छुट्टियों में दिए गए असाइनमेंट पर 30 अंक और एक से 15 मार्च के बीच दिए जाने वाले प्रोजेक्ट और असाइनमेंट पर 40 अंक दिए जाएंगे. Also Read - School Reopening News: दिल्ली के सभी स्कूल अगले आदेश तक रहेंगे बंद, किसी भी कक्षा के छात्रों को नहीं बुलाया जाएगा स्कूल

इसी तरह छठवीं से 8वीं कक्षा तक के लिए वर्कशीट पर 20 अंक, सर्दियों की छुट्टियों में दिए गए असाइनमेंट पर 30 अंक और एक से 15 मार्च के बीच दिए जाने वाले प्रोजेक्ट और असाइनमेंट पर 50 अंक दिए जाएंगे.

शर्मा ने कहा, ‘अगर किसी छात्र के पास डिजिटल उपकरण (मोबाइल/लैपटॉप) और इंटरनेट नहीं है तो कोविड-19 दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए ऐसे बच्चों के माता-पिता को स्कूल बुलाकर उन्हें प्रोजेक्ट और असाइनमेंट की हार्ड कॉपी दी जाएगी.’

(इनपुट: भाषा)