Delhi Me Kab Khulenge School or College: देश में कोरोना संक्रमण से स्थिति नियंत्रित होने के बाद कई राज्यों में स्कूल और कॉलेज खुल चुके हैं और कई राज्यों ने एक अगस्त से शिक्षण संस्थान खोलने की अनुमति दे दी है. इस बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी एक अगस्त तक स्कूल और कॉलेज (Delhi School or College Reopen Update) खोलने पर कोई निर्णय लिया जा सकता है. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Delhi Education Minister Manish Sisodia) ने खुद इस संबंध में प्रेस कॉन्फ्रेंस की.Also Read - Kab Khulenge Schools: हिमाचल प्रदेश की कैबिनेट में हुआ फैसला, चार सितंबर तक नहीं खुलेंगे स्कूल

उन्होंने बताया कि इस निर्णय पर विचार जानने के लिए सभी सरकारी स्कूलों में बच्चों के माता-पिता को बुलाया गया. लाखों बच्चों के माता-पिता शिक्षकों से मुलाकात कर चुके हैं. अभिभावकों की इच्छा है कि स्कूल खोले जाने चाहिए. सिसोदिया ने कॉलेज के छात्रों से भी मुलाकात की, जिनका पहला और अब दूसरा साल भी घर में बैठे बीत रहा है. वो भी चाहते हैं कि शिक्षण संस्थान खोल दिए जाएं. Also Read - Kab Khulenge Schools: जल्द खुल जाएंगे स्कूल-कॉलेज, राज्यों के साथ चर्चा के बाद केंद्र सरकार जारी कर सकती है गाइडलाइंस

डिप्टी सीएम ने राष्ट्रीय राजधानी में स्कूल-कॉलेज खोलने के संकेत देते बुधवार को ट्वीट कर इस संबंध में छात्रों के अभिभावकों विचार मांगे. इसमें बुधवार रात साढ़े नौ बजे तक 12,000 लोगों ने शिक्षण संस्थान खोलने के संबंध में अपने विचार दिए हैं. इसपर शिक्षा मंत्री ने सकारात्मक संकेत देते हुए ट्वीट किया. Also Read - Delhi Me Kab Khulenge School or College: दिल्ली में कब खुलेंगे स्कूल-कॉलेज? मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया

उन्होंने कहा- क्या दिल्ली में अब स्कूल खुलने चाहिए? मैंने 2 आज (बुधवार) दोपहर 2 बजे बच्चों, पेरेंट्स, टीचर्स और प्रिंसिपल्स से सुझाव मांगे. 5 बजे तक 5000, 8 बजे तक 10,000 और 9:30 बजे तक 12,000 सुझाव मिले. क्या लगता है? इतनी जबरदस्त भागीदारी क्या इशारा कर रही है?

जिन लोगों ने शिक्षा मंत्री को अपने जवाब भेजे हैं, उनमें से अधिकतर ने स्कूल और कॉलेज खोले जाने का पक्ष लिया. एक ईमेल कर लिखा कि जितना जल्दी हो स्कूल खोल दिए जाएं. एक जवाब में कहा गया कि कोरोना दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए शिक्षण संस्थान खोल दिए जाएं.