Delhi Vaccination Update: दिल्ली में 25 फीसदी से अधिक युवाओं को वैक्सीनेट किया जा चुका है. 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी में शामिल 50 फीसदी आबादी पहले ही वैक्सीनेट हो चुकी है. दिल्ली में शनिवार को रिकॉर्ड 2,07,559 लोगों को वैक्सीन की डोज लगाई गई. इनमें से डेढ़ लाख से भी ज्यादा डोज युवाओं को लगी हैं. दिल्ली सरकार के मुताबिक, दिल्ली में अभी तक 73,29,652 लोगों को वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं, जिनमें से 56 लाख से ज्यादा लोगों को पहली और 17 लाख से ज्यादा लोगों को दोनों डोज लग चुकी हैं.Also Read - यूपी में 16 करोड़ लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन, ये आंकड़ा छूने वाला देश का पहला राज्य बना

दिल्ली में कुल 7.06 लाख वैक्सीन की डोज अभी उपलब्ध हैं. इसमें से 5.40 लाख कोवीशील्ड और डेढ़ लाख से भी ज्यादा कोवैक्सीन की डोज उपलब्ध हैं. राज्य सरकार का कहना है कि दिल्ली में रोजाना दो लाख वैक्सीनेशन की स्पीड से अब 3 दिन का स्टॉक उपलब्ध है. केंद्र सरकार डेढ़ लाख प्रति दिन के हिसाब से जुलाई में कम से कम 45 लाख वैक्सीन की डोज उपलब्ध कराए. Also Read - हम अंतिम समय तक सीएम उद्धव ठाकरे का समर्थन करेंगे: एनसीपी चीफ शरद पवार

केजरीवाल सरकार का कहना है कि केंद्र सरकार से हम शुरुआत से 18 से 45 वर्ष के लिए अधिक वैक्सीन इसलिए ही मांगते आए हैं, क्योंकि युवाओं में वैक्सीन लगवाने की उत्सुकता है. जब युवा वैक्सीन लगवाने के लिए आते हैं तो वह अपने घर से माता-पिता,दादा सहित सभी को साथ लेकर आते हैं. 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी में थोड़ी बहुत भी हिचक बची है तो उसको खत्म करने के लिए युवाओं का वैक्सीनेशन बहुत जरूरी है. हमें इस बात की खुशी है कि युवा बड़ी संख्या में अपने घरों से बाहर निकल कर वैक्सीनेशन करवाने के लिए आ रहे हैं. Also Read - मनीष सिसौदिया ने किया खुलासा, कैसे बदला दिल्ली के सरकारी स्कूलों का हाल और कहां से मिली थी प्रेरणा

दिल्ली सरकार ने केंद्र को चिट्ठी भी लिखी है कि डेढ़ लाख प्रतिदिन के हिसाब से दिल्ली को जुलाई में कम से कम 45 लाख वैक्सीन की डोज चाहिए. दिल्ली में वैक्सीनेशन की स्पीड बढ़ती जाती है तो 45 लाख से भी ज्यादा डोज की जरूरत होगी.

(इनपुट आईएएनएस)