Delhi Weather: मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में आज यानी रविवार के दिन हल्की बूंदाबांदी हो सकती है. इसके चलते अगले तीन दिनों तक अधिकतम तापमान में तीन से चार डिग्री तक की गिरावट की संभावना है, जिससे ठंड बढ़ जाएगी. वहीं शनिवार के दिन दिल्ली का अधिकतम और न्यूनतम तापमान सामान्य से दो-दो डिग्री ज्यादा दर्ज किया गया. दिनभर कभी तेज तो कभी हल्की धूप खिली रही, आज सुबह से आसमान में बादल लगे हैं और हल्की धूप दिख रही है.Also Read - Madhya Pradesh Weather Update: मध्य प्रदेश में भयंकर शीतलहर की चेतावनी, कई जिलों के लिए अलर्ट जारी

शनिवार की सुबह दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में हल्का कोहरा देखने को मिला, हालांकि दिन चढ़ने के साथ ही तेज धूप निकल आई. शनिवार की सुबह  सफदरजंग मौसम केंद्र में कोहरे के चलते दृश्यता का स्तर 600 मीटर रह गया था, लेकिन धूप निकलने के बाद दृश्यता स्तर में इजाफा हुआ और फिर शाम तक सामान्य रहा. Also Read - Weather Update Today: दिल्ली-बिहार-यूपी-राजस्थान सहित इन राज्यों को अभी नहीं मिलेगी शीतलहर से राहत, जानिए वजह

राजधानी में दोपहर ढाई बजे के बाद दृश्यता का स्तर साढ़े तीन किलोमीटर था, जिसे काफी अच्छा माना जाता है. खिली हुई धूप के चलते अधिकतम और न्यूनतम तापमान में भी इजाफा हुआ. सफदरजंग मौसम केंद्र में अधिकतम तापमान 26.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री ज्यादा है. Also Read - Weather Report Today India: देश के कई हिस्सो में 'कोल्ड डे' का अलर्ट जारी, जानिए कैसा रहेगा मौसम का मिजाज

वहीं कल के तापमान की बात करें तो कल राजधानी में न्यूनतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से दो डिग्री ज्यादा है. मौसम विभाग का अनुमान है कि रविवार के दिन दिल्ली के मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा. खासतौर पर शाम के वक्त अलग-अलग हिस्सों में हल्की बूंदाबांदी हो सकती है. इसके चलते अगले तीन दिन के बीच अधिकतम तापमान 22 डिग्री तक और न्यूनतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना है.

दिल्ली की हवा की गुणवत्ता में नहीं हुआ है सुधार 

दिल्ली-एनसीआर में इन दिनों हवा का चाल की वजह से प्रदूषण के स्तर में उतार-चढ़ाव जारी है. शनिवार को एनसीआर के शहरों की हवा जहां खराब से खिसक कर बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गई तो वहीं, दिल्ली की हवा में भी मामूली बदलाव हुआ है. वायु मानक संस्था सफर का पूर्वानुमान है कि अगले दो दिनों तक हवा की गुणवत्ता में खास बदलाव की संभावना नहीं है. संस्था के मुताबिक आगामी सात दिसंबर से तेज हवाएं चलने से सुधार की अधिक गुंजाइश है.