Eid Ul Fitr, Punjab, Jama Masjid, delhi, Amritsar, News: वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण मुस्लिम समुदाय आज देश में ईद मना रहा. अधिकतर मुस्‍लिम धार्मिक नेताओं ने समुदाय के लोगों को कोविड नियमों का पालन करते हुए अपने घरों पर ही नमाज अदा करने की सलाह दी है. आज शुक्रवार को देश में ईद-उल-फितर नमाज को लेकर दो तरह की तस्‍वीर सामने आ रही है. कहीं धार्मिक नेताओं की अपील पर लोग कोविड नियमों का खयाल रख रहे हैं तो कहीं, सोशल डिस्‍टेशिंग की धज्जियां उड़ा रहे हैं. देश की राजधानी दिल्‍ली में जहां कोविड नियमों के पालन के लिए बड़ी संख्‍या में सुरक्षा बल तैनात हैं, वहीं पंजाब की मस्जिद में भीड़ नजर आ रही है. Also Read - राष्‍ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने मिल्खा सिंह के निधन पर जताया गहरा शोक

देश की राजधानी दिल्‍ली में जामा मस्जिद के बाहर सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं. दिल्‍ली पुलिस के सीनियर अधिकारी ने कहा कि लोगों ने इस साल अपने घरों में ईदउलफ्र‍ित्र (EidUlFitr) उत्सव की हमारी अपील पर सहमति व्यक्त की है. Also Read - घर-घर राशन योजना: केंद्र ने दिल्ली सरकार से फिर कहा, 'राशन दुकानों में पहले E-PoS उपकरण लगाएं'

पंजाब के अमृतसर की जामा मस्जिद में ईद-उल-फि‍तर के मौके पर नमाज पढ़ने के लिए बड़ी संख्या में जुटे लोग. इसके फोटो सामने आए हैं.

राष्ट्रपति ने दी लोगों को ईद की बधाई, किया कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन करने का आह्वान
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देशवासियों को ईद-उल-फितर की बधाई देते हुए आह्वान किया कि वे कोविड-19 को हराने के लिए नियमों और दिशानिर्देशों का अनुपालन करें। साथ ही देश और समाज की भलाई के लिए काम करें. राष्ट्रपति ने अपने संदेश में कहा, हम सभी संकल्प लें कि कोविड-19 की इस महामारी में सभी नियमों और दिशानिर्देशों का अनुपालन करेंगे और समाज और देश की भलाई के लिए काम करेंगे.

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति की अपील 
वहीं, दिल्ली स्थित जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति नजमा अख्तर ने बृहस्पतिवार को विद्यार्थियों, शिक्षकों और गैर शैक्षक कर्मियों को ईद-उल-फितर की बधाई दी. उन्होंने लिखा, ”हम ईद पर मिलकर प्रार्थना करें कि हममें कभी खत्म नहीं होने वाली उम्मीद, सकारात्मकता और भरोसा बना रहे ताकि हम कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में मजबूत होकर खड़े रह सके.”

जयपुर में इस्लामिक धर्मगुरूओं ने की अपील : ईद की नमाज अपने-अपने घर पर अदा करें
जयपुर में कई इस्लामिक धर्मगुरूओं ने कोरोना की दूसरी लहर के प्रकोप को देखते हुए लोगों से ईद-उल-फितर त्योहार को राज्य सरकार, स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार ही अपने घरों में रहकर मनाने की अपील की है. राजस्थान के चीफ काजी खालिद उस्मानी, जयपुर के मुफ्ती मोहम्मद जाकिर नोमानी और जामा मस्जिद के सदर नईमुद्दीन कुरेशी ने ईद की पूर्व संध्या पर बृहस्पतिवार को इस सम्बन्ध में बयान जारी कर लोगों से घर में रहकर ईद मनाने की अपील की है. चीफ काजी उस्मानी ने कहा कि आज जिन हालात से पूरी दुनिया गुजर रही है, वे बहुत ही खराब है और हमें यह समझने की जरूरत है कि इस महामारी से किस तरह लड़ना है. ईद-उल-फितर की मुबारकबाद देते हुए मुफ्ती नोमानी ने बयान में कहा है कि ईद की नमाज हर बार बड़ी तादाद में सामूहिक रूप से अदा की जाती रही है लेकिन इस बार ऐसा संभव नहीं होगा.