Delhi Corona Update: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामलों में आज फिर कमी आई है. 5 अप्रैल के बाद पहली बार ऐसा हुआ है जब 4500 से कम मामले सामने आए हैं. दिल्ली में अब पॉजिटिविटी रेट भी गिरकर 7 फीसदी से नीचे आ गई है. इन सबके बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि कोरोना के खिलाफ जारी इस जंग में कुछ परिवार बेहद मुश्किल हालातों का सामना कर रहे हैं, ऐसे सभी जरूरतमंद परिवारों के लिए आज हम राशन से लेकर पेंशन तक जैसी चार महत्वपूर्ण घोषणाएं करने जा रहे हैं. Also Read - पंजाब में 'AAP' किसे बनाएगी सीएम पद का उम्मीदवार, अमृतसर में अरविंद केजरीवाल ने दिया ये जवाब

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में 72,00,000 राशन कार्ड धारकों को इस महीने से राशन मुफ्त में दिया जाएगा और उनसे पैसे नहीं लिए जाएंगे. केंद्र की तरफ से भी इन राशन कार्ड धारकों को 5 किलो राशन मुफ्त में मिल रहा है. अब उन्हें इस महीने 10 किलो राशन मुफ्त में मिलेगा. उन्होंने कहा कि ऐसे कई लोग हैं जो गरीब है, उनका राशन कार्ड नहीं बन पाया है. जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है, जो कहेगा वह गरीब है, उसके पास राशन नहीं है, उन्हें भी दिल्ली सरकार राशन देगी. इसमें किसी तरह का कोई दस्तावेज नही मांगा जाएगा. Also Read - Punjab: पूर्व IPS विजय प्रताप AAP में हुए शामिल, केजरीवाल बोले- कोई सिख ही होगा सीएम उम्‍मीदवार

इसके साथ ही केजरीवाल ने कहा कि ऐसा कोई भी परिवार जिनमें से किसी सदस्य की मौत कोरोना की वजह से हुई है उन्हें अनुग्रह राशि के रूप में 50,000 रुपये दिए जाएंगे. इसके साथ-साथ ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता में से किसी की कोरोना से मृत्यु हुई है और बच्चे अनाथ हो गए हैं. ऐसे हर एक बच्चे को 2,500 रुपये हर महीने 25 साल की उम्र तक दिए जाएंगे, इसके साथ उन्हें मुफ्त शिक्षा भी दी जाएगी.

उधर, दिल्ली में मंगलवार को 5 अप्रैल के बाद पहली बार कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे कम 4,482 मामले सामने आए और 265 रोगियों की मौत हो गई, जबकि संक्रमण दर 6.89 प्रतिशत है. स्वास्थ्य बुलेटिन में यह जानकारी दी गई है. दिल्ली में सोमवार को संक्रमण के 4,524 मामले सामने आए थे और 340 रोगियों की मौत हुई थी. संक्रमण की दर 8.42 प्रतिशत थी. दिल्ली में लगातार दूसरे दिन संक्रमण के 5 हजार से कम मामले सामने आए हैं.

राष्ट्रीय राजधानी में कुछ दिन से कोविड-19 हालात में सुधार हो रहा है और संक्रमण के मामलों तथा इसकी दर में तेजी से गिरावट देखी जा रही है. चिकित्सा विशेषज्ञों ने महामारी की दूसरी लहर के बीच इस गिरावट के लिये लॉकडाउन को मुख्य कारक बताया है. हालांकि, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को 24 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा करते हुए कहा था कि कोरोना वायरस खिलाफ जंग में मिली बढ़त को अभी छूट देकर खोया नहीं जा सकता. सरकारी आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में मंगलवार को पांच अप्रैल के बाद से संक्रमण के सबसे कम मामले सामने आए हैं. उस दिन 3,548 लोग वायरस से संक्रमित पाए गए थे. संक्रमण की दर 7 अप्रैल के बाद से सबसे कम है. उस दिन यह 6.1 प्रतिशत थी.

(इनपुट: ANI)