Amit Shah, tractor rally, Delhi violence, tractor rally violence, Delhi Police: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बृहस्पतिवार को दो अस्पतालों का दौरा कर गणतंत्र दिवस के दिन राष्ट्रीय राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा में घायल हुए पुलिसकर्मियों का हालचाल जानेंगे. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दिल्‍ली पुलिस के घायल जवानों और अफसरों का हालचाल जानने के लिए आज दो अस्‍पतालों का दौरा करेंगे. वहीं, पुलिस का कहना है कि ट्रैक्टर परेड में हिंसा में किसान नेताओं की भूमिका की जांच की जाएगी.Also Read - Traffic advisory Republic Day Parade 2022: गणतंत्र दिवस परेड रिहर्सल को लेकर ट्रैफिक एडवाइजरी जारी, दिल्ली के इन रास्तों पर आवाजाही रहेगी बंद

जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दो अस्पतालों का दौरा करेंगे, जहां 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा में घायल हुए पुलिसकर्मियों को उत्तरी दिल्ली में भर्ती कराया गया था. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्री सुश्रुत ट्रामा सेंटर और तीरथ राम अस्पताल का दौरा कर घायल पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य की जानकारी लेंगे. दोनों अस्पताल सिविल लाइंस में स्थित हैं. Also Read - गाजीपुर फूल मंडी में IED मिलने के मामले में केस दर्ज, दिल्ली पुलिस ने कहा- आतंकी घटना लगती है

Also Read - PM Modi High Level Meeting: कोरोना संकट पर प्रधानमंत्री मोदी ने की मुख्यमंत्रियों संग बैठक, अमित शाह भी रहे मौजूद

ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा और तोड़-फोड़
हिंसा और तोड़-फोड़ में दिल्ली पुलिस के 394 कर्मी घायल हुए हैं. गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा और तोड़-फोड़ में दिल्ली पुलिस के 394 कर्मी घायल हुए हैं, जबकि एक प्रदर्शनकारी की मौत हुई है.

किसान नेताओं की भूमिका की जांच
पुलिस ने हिंसा के सिलसिले में अब तक 25 प्राथमिकी दर्ज की हैं. ट्रैक्टर परेड में हिंसा में किसान नेताओं की भूमिका की जांच की जाएगी. इस बीच, कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 64वें दिन भी जारी है.

दिल्ली पुलिस के 394 कर्मी घायल हुए हैं, जबकि पुलिस के 30 वाहनों को नुकसान
दिल्ली पुलिस के 394 कर्मी घायल हुए हैं, जबकि पुलिस के 30 वाहनों को नुकसान पहुंचा है. हिंसा के दौरान पुलिस के 428 अवरोधक क्षतिग्रस्त हुए हैं. समयपुर बादली थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के अनुसार, प्रदर्शनकारियों ने हिंसा के दौरान पुलिस से पिस्तौल, 10 गोलियां और आंसू गैस के दो गोले लूट लिए हैं. पुलिस के अनुसार, दंगे में डीटीसी बस के चालक प्रवीण कुमार घायल हुए हैं. उन्हें बसईदारापुर के ईएसआईसी मॉडल अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

योगेंद्र यादव, टिकैत, पाटकर सहित 37 किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर
दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा के सिलसिले में राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव और मेधा पाटकर सहित 37 किसान नेताओं के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की है और उनके खिलाफ दंगा, आपराधिक षड्यंत्र, हत्या का प्रयास सहित आईपीसी की विभिन्न धाराओं में आरोप लगाया है. दिल्ली के पुलिस प्रमुख एस. एन. श्रीवास्तव द्वारा किसान नेताओं पर भड़काऊ भाषण देने और हिंसा में शामिल होने का आरोप लगाए जाने के बाद किसान नेताओं के खिलाफ यह कार्रवाई हुई है.