Indian Railways: कोरोना वायरस के संक्रमण की संख्या में लगातार आ रही गिरावट को देखते हुए भारतीय रेलवे ने कोरोना काल में रद्द की कई ट्रेनों को फिर से बहाल करना शुरू कर दिया है. धीरे-धीरे सभी रद ट्रेनें पर पटरी पर पहले की तरह ही दौड़ने लगी हैं. इसके बाद अब रेलवे ने लोगों को सुविधा के लिए प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री भी फिर से शुरू करने का फैसला लिया है. इस क्रम में सबसे पहले नॉदर्न रेलवे ने दिल्ली डिवीजन के 8 रेलवे स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री शुरू कर दी है. इसकी जानकारी देते हुए बताया गया है कि स्टेशन पर अनावश्यक भीड़भाड़ से बचने के लिए प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत को बढ़ाकर 30 रुपये किया गया है. अब देश के बाकी रेलवे स्टेशनों में भी चरणबद्ध तरीके से यह सुविधा शुरू कर दी जाएगी.Also Read - Odisha Lockdown-Unlock New Guidelines: आज से एक महीने के लिए ओडिशा में Lockdown हुआ अनलॉक, जानिए नई गाइडलाइन...

उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने कहा कि कोरोना की स्थिति की समीक्षा करने के बाद प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री बहाल करने का फैसला किया गया है. फिलहाल दिल्ली डिवीजन के 8 स्टेशनों नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, हजरत निजामुद्दीन, आनंद विहार टर्मिनल, मेरठ सिटी, गाजियाबाद, दिल्ली सराय रोहिल्ला और दिल्ली छावनी रेलवे स्टेशन पर लोग प्लेटफॉर्म टिकट खरीद सकेंगे. इसके अलावे अन्य स्टेशनों पर यात्रियों की संख्या और जरूरत को ध्यान में रखकर प्लेटफॉर्म टिकट उपलब्ध कराने का फैसला किया जाएगा. Also Read - CoronaVirus Kerala Alert: कोरोना वायरस ने केरल में एक बार फिर बनाया नया रिकॉर्ड, तीसरे लहर की चेतावनी तो नहीं...

Also Read - Covid-19 In India: देश में 40 हजार के आसपास थमी है कोरोना की रफ्तार, मौत के आंकड़े भी हुए कम, जानिए Latest Updates

दिल्ली के स्टेशनों पर 30 रुपये में मिलेगा प्लेटफॉर्म टिकट

देश में कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत के बाद शताब्दी और राजधानी सहित कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया था. स्टेशन परिसर में भीड़भाड़ कम करने के लिए प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री भी बंद कर दी गई थी. कंफर्म टिकट के साथ यात्रियों को प्लेटफॉर्म पर जाने की अनुमति थी. जहां ट्रेनें फिर से चलने लगी हैं, तो ऐसे में प्लेटफॉर्म टिकट की भी बिक्री शुरू की गई है. बता दें कि कोरोना से पहले मार्च में दिल्ली के रेलवे स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत बढ़ाकर 30 रुपये कर दी गई थी, जबकि मुंबई समेत देश के अन्य बड़े शहरों में इसकी कीमत 50 रुपये तय की गई थी.