Navneet Kalra, Oxygen Concentrator, Black Marketing Case, Black Marketing, Covid-19, Coronavirus,  Delhi, News, नई दिल्ली: देश की राजधानी की दिल्‍ली पुलिस ने कोरोना वायरस महामारी के बीच ऑक्सीजन कंसंट्रेटर ( oxygen concentrator) की जमाखोरी करने और उनकी कालाबाजारी (Black Marketing Case) करने के आरोपी खान चाचा रेस्‍ट्रोरेंट के मालिक और बिजनेसमैन (Khan Chacha Owner) नवनीत कालरा को रविवार रात गिरफ्तार कर लिया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. Also Read - Weather Forecast Delhi Update: दिल्ली में कब होगी तेज बारिश, मौसम विभान ने बताया, 'करना होगा थोड़ा इंतजार, लेकिन...'

बता दें राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में उसके तीन रेस्तरां से कुछ दिन पहले 500 से अधिक ऑक्सीजन सांद्रक जब्त हुए थे और वह उसके बाद फरार था. ऑक्सीजन सांद्रक कोविड-19 मरीजों के इलाज में महत्वपूर्ण उपकरण माने जाते हैं और संक्रमण की दूसरी लहर में इनकी भारी मांग है. Also Read - सरकार ने होईकोर्ट को बताया, 'महाराष्ट्र में 13 हजार से अधिक कैदियों का कोविड-19 टीकाकरण किया गया'

दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को कालरा को गिरफ्तारी से अंतरिम राहत देने से इनकार कर दिया था. एक सत्र अदालत द्वारा राहत देने से इनकार किए जाने के बाद 13 मई देर शाम कालरा ने हाईकोर्ट का रुख किया था.

हाल में पुलिस की छापेमारी में कालरा के तीन रेस्तरां- खाना चाचा, नेगा जू और टाउन हॉल- से 524 ऑक्सीजन सांद्रक बरामद किए गए थे. इस मामले की जांच बाद में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को सौंप दी गई थी. पुलिस ने दावा किया था कि इन ऑक्सीजन सांद्रकों को चीन से आयात किया गया था और 50 से 70 हजार रुपए में बेचा जा रहा था, जबकि इनकी वास्तविक कीमत 16 से 22 हजार के बीच थी.

हाल में की गई छापेमारी के दौरान कालरा के तीन रेस्त्रां ‘खान चाचा’, ‘नेगा जू’ और ‘टाउन हॉल’ से 524 ऑक्सीजन सांद्रक बरामद किए गए थे और ऐसा संदेह था कि वह अपने परिवार के साथ दिल्ली छोड़कर चला गया है. ऑक्सीजन सांद्रक कोविड-19 के इलाज में महत्वपूर्ण चिकित्सकीय उपकरण हैं.

आईपीसी की धारा 420 (जालसाजी), 188 (लोक सेवक के आदेश की अवज्ञा), 120-बी (आपराधिक साजिश) और 34 (समान इरादे से काम करना) के तहत कालरा के खिलाफ पांच मई को एक मामला दर्ज किया गया था. ऑक्सीजन सांद्रकों की कालाबाजारी के लिए आवश्यक वस्तु कानून और महामारी कानून के तहत भी प्राथमिकी दर्ज की गई थी.