Kisan Andolan : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) कृषि कानूनों (Farms Law 2020) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों (Farmers Protest) के समर्थन में सोमवार को एक दिन का उपवास रखेंगे. इसके साथ-साथ उन्होंने आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के कार्यकर्ताओं और लोगों से अपील की है कि किसानों के समर्थन में वे भी एक दिन का उपवास रखें. Also Read - Delhi Schools Nursery Class Admission 2021: नर्सरी में दाखिले के लिए जल्द जारी होगा नोटिफिकेशन, करें इंतजार

केजरीवाल ने कहा कि, ‘मैं आम आदमी पार्टी (AAP) के सभी कार्यकर्ताओं और समर्थकों से अपील करता हूं कि वो भी किसानों की इन मांगों के समर्थन में उपवास रखें. ऐसे सभी लोग जो दिल से किसानों के साथ हैं पर अपनी व्यस्तता के कारण बॉर्डर पर नहीं जा पाए, उनको अब मौका मिला है. वो भी एक दिन का उपवास ज़रूर रखें.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, ‘जिस तरह से हमारे आंदोलन को उन दिनों में कांग्रेस के द्वारा बदनाम करने की कोशिश की जा रही थी. आज वही कोशिश किसानों के आंदोलन को बदनाम करने के लिए भाजपा और सत्ता पक्ष कर रहा है.

केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार के कई मंत्री और भाजपा नेता किसानों को एंटी नेशनल बोल रहे हैं. जिन सैनिक, डॉक्टर्स, खिलाड़ी, सिंगर ने देश का नाम रोशन किया क्या वो एंटी नेशनल है? मैं भाजपा नेताओं से कहना चाहता हूं इस देश के किसानों को एंटी-नेशनल कहने की हिम्मत मत करना.

उधर, दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि किसान आंदोलन के समर्थन में 14 दिसंबर को पूरे देश में ‘आप’ कार्यकर्ता सामूहिक उपवास रखेंगे. आप विधायक, पार्षद और पदाधिकारी सोमवार सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक पार्टी मुख्यालय पर किसान आंदोलन के समर्थन में सामूहिक उपवास रखेंगे. उन्होंने आगे कहा कि, भाजपा की केंद्र सरकार ने माना है कि तीनों कृषि कानूनों में कमियां हैं. जब सरकार ने खुद माना है कि कानून में संशोधन की जरूरत है तो फिर इसे वापस लेने में क्यों हिचकिचा रहे हैं?