नई दिल्ली: दिल्ली में बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए सरकार ने मांस की बिक्री पर रोक लगाई थी, लेकिन एशिया के सबसे बड़े गाजीपुर कुक्कुट बाजार से लिए गए सभी 100 नमूनों में बर्ड फ्लू नहीं होने के बाद दिल्ली के सभी नगर निगमों ने बृहस्पतिवार को पोल्ट्री अथवा प्रसंस्कृत चिकन मांस की बिक्री और भंडारण पर से प्रतिबंध हटा लिया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. Also Read - Bird Flu in Gujarat: गुजरात में पहली बार मुर्गियों में पाया गया बर्ड फ्लू, जंगली पक्षी भी संक्रमित

पूर्वी दिल्ली के महापौर निर्मल जैन ने कहा कि आज शाम केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की अध्यक्षता में ऑनलाइन माध्यम से हुई बैठक के दौरान यह फैसला लिया गया. बैठक में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, दो अन्य महापौर तथा तीनों निगमों के आयुक्तों ने शिरकत की. Also Read - कोरोना वायरस और बर्ड फ्लू के बीच आंध्र प्रदेश के इस गांव में इस रहस्यमयी बीमारी का साया, सामने आए 29 मामले

जैन ने कहा, ‘दिल्ली सरकार ने चिकन मांस के व्यापार और आयात पर से प्रतिबंध हटाते हुए पोल्ट्री बाजार खोलने का फैसला लिया है. ऐसे में सभी तीन निगमों ने भी यहां बर्ड फ्लू हालात के मद्देनजर कल लगाई गईं पाबंदियां हटाने का फैसला लिया है. ‘ उत्तरी दिल्ली नगर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने भी प्रतिबंध हटाए जाने की पुष्टि की है. Also Read - टेनिस स्टार Sania Mirza को भी हुआ था Corona, बोलीं- अब ठीक हूं

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को ट्वीट किया, ‘पोल्ट्री बाजार से लिये गए नमूनों में बर्ड फ्लू संक्रमण नहीं पाए जाने की पुष्टि हुई है. लिहाजा, पोल्ट्री बाजार खोलने का फैसला लिया गया है. साथ ही चिकन मांस के व्यापार और आयात पर पाबंदी के आदेशों को वापस ले लिया गया है. ‘

सरकार ने एहतियात के तौर पर 10 दिन के लिए थोक पोल्ट्री बाजार भी बंद कर दिया था. दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा पर स्थित गाजीपुर बाजार क्षेत्र में पोल्ट्री उत्पादों का मुख्य आपूर्तिकर्ता है. पशुपालन इकाई के वरिष्ठ अधिकारी राकेश सिंह ने कहा, ‘‘बुधवार को 104 नमूनों के परिणाम आए. इनमें से 100 नमूने गाजीपुर बाजार में 35 पोल्ट्री पक्षियों के थे. सभी नमूनों के संक्रमित नहीं होने की पुष्टि हुई है.’’