Delhi LG Government:अब दिल्ली में सरकार का मतलब मुख्यमंत्री नहीं, उपराज्यपाल होगा, यानि कि अब दिल्ली सरकार को उपराज्यपाल की सलाह लेनी पड़ेगी. उनके आदेश से ही काम करना होगा. केंद्र सरकार की ओर से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली कानून (विशेष प्रावधान) दूसरा (संशोधन) कानून, 2021 मंजूरी दे दी गई है और इसकी अधिसूचना अब जारी कर दी गई है. इसके बाद दिल्ली में ‘सरकार’ का मतलब राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के उपराज्यपाल से है. कुल मिलाकर ये कहें कि अब दिल्ली में सारे बड़े और अहम फैसले उपराज्यपाल की अनुमति के बाद ही लागू किए जा सकेंगे.Also Read - त्यागराज स्टेडियम में 'डॉग वॉक' को लेकर IAS संजीव खिरवार पर बड़ी कार्रवाई, दिल्ली से लद्दाख हुआ ट्रांसफर

बता दें कि NCT एक्ट से जुड़ा यह संशोधित बिल संसद के दोनों सदनों से पास हो चुका है. इस कानून के तहत दिल्ली के उपराज्यपाल को कुछ अतिरिक्त शक्तियां मिली हैं. इसके बाद आज ही से यानि बुधवार से ही दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार को उपराज्यपाल से कुछ मामलों में मंजूरी लेनी जरूरी हो जाएगी. Also Read - अब रात 10 बजे तक खिलाडियों के लिए खुले रहेंगे दिल्ली के सभी खेल परिसर, CM केजरीवाल ने लिया फैसला

इस संशोधित कानून के मुताबिक, दिल्ली सरकार को विधायिका से जुड़े फैसलों पर LG से 15 दिन पहले और प्रशासनिक मामलों पर करीब 7 दिन पहले मंजूरी लेनी होगी, इसे लेकर ही दिल्ली सरकार अबतकक आपत्ति जता रही थी. Also Read - ये कैसी मजबूरी...दिल्ली के इस स्टेडियम में VIP कुत्ते करते हैं इवनिंग वॉक, एथलीट-कोच को नहीं मिलती इजाजत

जानिए क्या है NCT विधेयक, 2021

केंद्र सरकार द्वारा जारी एनसीटी विधेयक के लागू होने के बाद दिल्ली में सरकार का मतलब ‘एलजी’ यानि उपराज्यपाल हो गया है. इसके बाद विधानसभा से पारित किसी भी विधेयक को मंजूरी देने की ताकत उपराज्यपाल के पास आ गई है. साथ ही इसमें यह भी प्रवाधान किया गया है कि दिल्ली सरकार को शहर से जुड़ा कोई भी निर्णय लेने से पहले उपराज्यपाल से सलाह लेनी होगी. इसके अलावा दिल्ली सरकार अपनी ओर से कोई कानून खुद नहीं बना सकेगी.

इस विधेयक में यह भी कहा गया है कि विधेयक विधान मंडल और कार्यपालिका के बीच सौहार्दपूर्ण संबंधों का बढ़ाएगा और साथ ही निर्वाचित सरकार और राज्यपालों के उत्तरदायित्वों को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के शासन की संवैधानिक योजना के अनुरूप परिभाषित करेगा.