नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सिख लोग अब अपनी शादी को आनंद मैरिज एक्ट के तहत रजिस्टर करवा सकेंगे. दिल्ली सरकार ने इस नए कानून के प्रावधानों को अधिसूचित कर दिया है. दिल्ली सरकार की अधिसूचना के मुताबिक, दिल्ली में जिस क्षेत्र में सिख लोग शादी करेंगे उन्हें उसी क्षेत्र के जिलाधिकारी के पास अपनी शादी का रजिस्ट्रेशन करना होगा. Also Read - दिल्ली में वेतन को लेकर संकट और गहराया, वरिष्ठ चिकित्सकों ने लिया सामूहिक आकस्मिक अवकाश, हड़ताल की चेतावनी

दिल्ली के राजस्व मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट कर बताया कि ‘दिल्ली सरकार ने दिल्ली आनंद विवाह नियम 2018 को अधिसूचित कर दिया है, सिख समुदाय की लंबे अरसे से जारी मांग पूरी हो गई. हमारी सरकार सभी समुदायों के अधिकारों के संरक्षण हेतु काम के लिए प्रतिबद्ध है.’ Also Read - Delhi NCR Pollution: गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' स्तर पर , इन जगहों की हालत बहुत ही खराब

  Also Read - Delhi Pollution: दिल्ली में वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में, 26 अक्टूबर को सुधार की उम्मीद

सिख समुदाय लंबे समय से इस कानून की मांग कर रहा था. 2012 में राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने आनंद मैरिज (अमेंडमेंट) बिल को पास किया था. इसके बाद सभी राज्यों को इसे लागू करने के कहा गया था. हरियाणा सबसे पहला राज्य था जहां आनंद मैरिज ऐक्ट, 2012 को पास किया गया. इसके बाद पंजाब में बादल सरकार ने इसे पास किया था.