Oxygen Crisis In Delhi: देश की राजधानी दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन को लेकर संकट अब गहराता जा रहा है. एक तरफ दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी की वजह से 25 मरीजों की मौत हो गई है तो दूसरी तरफ कई अस्पतालों ने ऑक्सीजन की कमी बताते हुए कहीं मरीजों को एडमिट करने से मना कर दिया है. तो वहीं मूलचंद हॉस्पिटल की ओर शनिवार को पीएम मोदी, सीएम अरविंद केजरीवाल से लेकर एलजी तक से ऑक्सीजन को लेकर मदद मांगी गई. कई अस्पतालों का आरोप है कि मरीजों के इलाज के लिए जितनी ऑक्सीजन चाहिए उतनी आपूर्ति नहीं की जा रही है.Also Read - सीएम चंद्रशेखर राव ने दिल्ली के स्कूलों का दौरा किया, कहा- ये मॉडल तेलंगाना ले जाएंगे

इस तरह से मचे हाहाकार के बीच दिल्ली हाईकोर्ट में महाराजा अग्रसेन अस्पताल के अलावा जयपुर गोल्डन, सरोज अस्पताल और बत्रा अस्पताल ने याचिका दायर की है जिसपर दिल्ली हाइकोर्ट ने इसे लेकर सख्त टिप्पणी की है और इससे निपटने के आदेश दिए हैं. Also Read - IANS C-Voter Survey: PM के रूप में नरेंद्र मोदी लोगों की पहली पसंद, जानें अरविंद केजरीवाल-राहुल गांधी कितने पीछे?

साथ ही कोर्ट ने कहा है कि ये कोरोना की दूसरी लहर नहीं ये तो सुनामी आ गई है. अभी भी तो और नए मामलों में तेजी आ रही है. ऐसे में हम उम्मीद कर रहे हैं कि मई के मध्य में यह पीक पर पहुंच जाएगा. हम इसकी तैयारी कैसे कर रहे हैं? Also Read - दिल्ली की तर्ज पर पंजाब में खुलेंगे पंजाब में मोहल्ला क्लिनिक, भगवंत मान ने कहा- 15 अगस्त से शुरू करेंगे

सरोज अस्पताल ने जानकारी दी है कि ऑक्सीजन की कमी के कारण मरीजों की भर्ती नहीं लेंगे. कोविड इन चार्ज ने बताया कि हम अब मरीजों को डिस्चार्ज भी कर रहे हैं, हमारे पास अब ऑक्सीजन नहीं है.

दिल्ली के बत्रा अस्पताल के एमडी एसएल गुप्ता ने कहा है कि हमें 500 लीटर ऑक्सीजन मिला है 12 घंटे में और हमें 8000 लीटर चाहिए प्रतिदिन 350 मरीजों के लिए. अब बताएं कि हम कैसे मरीजों का इलाज करें.

जयपुर के गोल्डन अस्पताल के एमडी डीके बलूजा ने जानकारी दी कि ऑक्सीजन की कमी से गोल्डन अस्पताल में 20 मरीजों की मौत हो गई है. शुक्रवार शाम को इन मरीजों ने ऑक्सीजन की कमी की वजह से अपना दम तोड़ दिया. डीके बलूजा ने जानकारी दी कि अब अस्पताल में बहुत कम मात्रा में आॉक्सीजन बचा है और मात्र आधे घंटे तक ही ऑक्सीजन की सप्लाई हो सकती है. अस्पताल में 200 मरीजों की जान खतरे में है.

एक तरफ अस्पताल ऑक्सीजन की किल्लत झेल रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ आम लोग भी अब कोरोना मरीजों की मदद करने के लिए सामने उतर आए हैं. गाजियाबाद के इंदिरापुरम के श्री गुरू सिंह सभा गुरुद्वारा में ऑक्सीजन लंगर की शुरुआत की गई है.

देखें वीडियो…

दिल्ली में हालांकि ऑक्सीजन की सप्लाई की कवायदें जारी हैं लेकिन अस्पताल अब ऑक्सीजन की कमी को लेकर अपने हाथ खड़े कर रहे हैं. अचानक बढ़े कोविड के मामलों के चलते यहां स्वास्थ्य सेवाएं भयंकर दबाव में चल रही हैं. हर रोज ऑक्सीजन को लेकर कई बड़े अस्पताल इमरजेंसी संदेश जारी कर रहे हैं. अस्पतालों के सामने बेड, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर जैसी स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी हो गई है.