Oxygen Crisis In Delhi: देश में कोरोना का कहर जारी है. हर दिन यहां रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं. देश के हर हिस्से से ऑक्सीजन और कोरोना मरीजों के लिए बेड की किल्लत की खबरें सामने आ रही हैं. इस बीच देश की राजधानी दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म होने की बात सामने आई है. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने खुद इसकी जानकारी दी है.Also Read - Monkeypox Disease: यौन संबंध बनाने से भी फैल सकता है 'मंकीपॉक्स' वायरस, विशेषज्ञों ने चेताया

सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन पूरी तरह खत्म हो गई है. सरोज, राठी, शांति मुकुंद, तीरथ राम अस्पताल, यूके अस्पताल, जीवन अस्पताल का कहना है कि हमारे यहां ऑक्सीजन खत्म हो गई है. हम जैसे-तैसे उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर देने की कोशिश कर रहे हैं. Also Read - युवा शिविर में बोले पीएम मोदी, भारत आज दुनिया की नई उम्मीद बनकर उभरा है

Also Read - दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के करीब 400 नए केस, दो लोगों की गई जान

उन्होंने कहा कि जब केंद्र सरकार ने दिल्ली का ऑक्सीजन का आवंटन बढ़ा दिया है तो हरियाणा और उत्तर प्रदेश की सरकारें इस तरह का व्यवहार क्यों कर रही हैं जैसे दिल्ली का उत्तर प्रदेश और हरियाणा से झगड़ा है.

उन्होंने कहा कि आज दिल्ली में चारों तरफ ऑक्सीजन की त्राही इसलिए मची हुई है, क्योंकि हरियाणा और उत्तर प्रदेश ने ऑक्सीजन को लेकर जंगलराज मचा रखा है. वहां की सरकारें, अधिकारी, पुलिस वहां के ऑक्सीजन प्लांट से दिल्ली के लिए ऑक्सीजन नहीं निकलने दे रहे हैं.

उधर, नोएडा के कैलाश अस्पताल में भी अब कुछ ही घंटों का ऑक्सीजन बचा है. कैलाश अस्पताल की ग्रुप डायरेक्टर रितु बोहरा ने बताया कि, ‘नोएडा में हमारी चार शाखाएं है और हर जगह का यही हाल है. अब कुछ ही घंटों का ऑक्सीजन बचा हुआ है. हमें बताया गया है कि हमें ऑक्सीजन की सप्लाई अगले 36 घंटे के बाद मिलेगी. हमने अस्पताल में नए मरीजों की भर्ती रोक दी है.

बता दें कि बीते 24 घंटे में भारत में कोरोना के करीब 3 लाख 15 हजार नए केस सामने आए और इस दौरान 2100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई. ऐसा पहली बार हुआ है, जब कोरोना से एक दिन में इतने लोगों की मौत हुई और इतने अधिक केस सामने आए.

स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,14,835 नए मामले सामने आए और इस दौरान 2104 लोगों की मौत हो गई. इसके साथ ही देश में संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 1,59,30,965 पहुंच गया है और अब तक 1,84,657 लोग इस जानलेवा वायरस के शिकार हो चुके हैं. भारत में कोरोना के अभी 22,91,428 एक्टिव मरीज हैं और 1,34,54,880 मरीज इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं.