Oxygen crisis, Delhi, Max Hospital, Sir Gangaram Hospital, Covid-19, News: देश में कोरोना वायरस संक्रमण के बीच महामारी के दौरान अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन (Oxygen crisis),आईसीयू, वेंटीलेंटर्स, बेड की कमी के चलते जहां कई जगह मरीजों की मौत सामने आ रहीं हैं, वहीं इंडियन एयफोर्स तक ऑक्‍सीजन की आपूर्ति में जुटी हुई. लेकिन दिल्ली ( Delhi) के सर गंगाराम अस्पताल (Sir Gangaram Hospital) में पिछले 24 घंटे में 25 कोविड मरीजों (Covid-19 patients deaths) की मौत होने के बाद ऑक्‍सीजन के टैंकर पहुंच गए हैं. वहीं, दिल्ली के साकेत में मैक्स अस्पताल में भी ऑक्‍सीजन के टैंकर पहुंच गए हैं.Also Read - भारत में Omicron के सब वेरिएंट BA.5 के एक और मरीज की पुष्टि, दक्षिण अफ्रीका से वडोदरा आया था शख्स

Also Read - दिल्ली में भारी बारिश से मौसम हुआ सुहाना, तो कहीं Heavy Rain बनी आफत | Watch

बता दें कि दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में पिछले 24 घंटे में गंभीर रूप से बीमार 25 कोविड मरीजों की मौत हो गई और 60 ऐसे और मरीजों की जान भी खतरे में हैं. दिल्‍ली में ऑक्सीजन की कमी को लेकर गंभीर संकट की स्थिति पैदा होने के बीच अधिकारियों ने शुक्रवार को इस बारे में बताया. एक सूत्र ने कहा था कि घटना के पीछे संभावित वजह ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी हो सकती है. बता दें कि मध्य दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में 500 से ज्यादा संक्रमित मरीज भर्ती हैं और इनमे से 150 मरीज ‘हाई फ्लो ऑक्सीजन सपोर्ट’पर हैं. Also Read - कुतुब मीनार या विष्णु स्तंभ? जानिये इसके बारे में ये 5 अहम बातें

60 मरीजों की जान भी खतरे के बीच पहुंचे ऑक्‍सीजन के टैंकर
सर गंगाराम अस्पताल में 25 कोविड मरीजों की मौत के बाद गंभीर रूप से बीमार  60 मरीजों की जान पर  छाए  खतरे के बीच  ऑक्‍सीजन के टैंकर अस्‍पताल में पहुंच गए हैं.  सर गंगाराम अस्पताल में पिछले 24 घंटे में गंभीर रूप से बीमार 25 कोविड मरीजों की मौत हो गई और 60 ऐसे और मरीजों की जान भी खतरे में है. शुक्रवार को सुबह सर गंगाराम अस्पताल में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ” अस्पताल में ऑक्सीजन का भंडार अगले दो घंटे और चलेगा, वेंटिलेटर और बीआईपीएपी मशीनें भी प्रभावी रूप से काम नहीं कर रही हैं.  इससे पहले अधिकारी ने कहा था कि अस्पताल के आईसीयू और आपात-चिकित्सा विभाग में गैर-मशीनी तरीके से वेंटिलेशन बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है. अस्पताल के अधिकारियों ने गुरुवार की रात सरकार को आपात संदेश भेजकर कहा था कि स्वास्थ्य केंद्र में केवल पांच घंटे के लिए ऑक्सीजन बची है और तुरंत इसकी आपूर्ति का अनुरोध किया था. पिछले चार दिनों में शहर के कई निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति व्यवस्था प्रभावित हुई है. कुछ अस्पतालों ने दिल्ली सरकार से मरीजों को दूसरे स्वास्थ्य केंद्रों में भी भेजने का अनुरोध किया.

भारत में एक दिन में कोरोना के रिकॉर्ड 3,32,730 केस, सक्रिय मरीज 24 लाख से ज्‍यादा
देश में कोविड-19 वैश्विक महामारी लगातार भयावह रूप लेती जा रही है जहां एक दिन में रिकॉर्ड 3,32,730 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,62,63,695 हो गए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार तक के आंकड़ों के मुताबिक 24 लाख से अधिक लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं.

देश में  24 घंटे में 2263 और लोगों की मौत, कुल मृतक संख्या 1,86,920
केंद्रीय मंत्रालय के सुबह 8:00 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक 2,263 और लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या 1,86,920 पर पहुंच गई है. वहीं, 24,28,616 लोग अब भी इस बीमारी का इलाज करा रहे हैं, जो संक्रमण के कुल मामलों का 14.93 प्रतिशत है, जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर गिरकर 83.92 प्रतिशत हो गई है. आंकड़ों के अनुसार 1,36,48,519 लोग स्वस्थ हो चुके हैं जबकि संक्रमण से होने वाली मृत्यु दर और घटकर 1.15 प्रतिशत हो गई है.

भारत में पि‍छले साल ये था हाल
भारत में पि‍छले साल कोविड-19 के मामले 7 अगस्त को 20 लाख के पार, 23 अगस्त को 30 लाख, 5 सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे. वहीं, 28 सितंबर को 60 लाख के पार, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख के पार और 19 दिसंबर को एक करोड़ के पार चले गए. 19 अप्रैल को भारत 1.50 करोड़ के गंभीर आंकड़े को पार कर गया. आईसीएमआर के मुताबिक, 22 अप्रैल तक 27,44,45,653 नमूनों की जांच की गई जिसमें से 17,40,550 नमूनों की बृहस्पतिवार को जांच की गई.