West Bengal, Delhi News Update: राष्ट्रीय राजधानी के दौरे पर आए पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (West Bengal Governor Jagdeep Dhankar) ने अधीर रंजन चौधरी (Congress Leader Adhir Ranjan Chowdhury) से उनके आवास पर मुलाकात की है. इसके बाद कांग्रेस हलकों में हलचल मच गई है. धनखड़ गुरुवार शाम चौधरी के आवास पर पहुंचे और बाद में ट्वीट किया, ‘दिल्ली में आज एक कप कॉफी से अधिक बातचीत हुई. अधीर रंजन चौधरी, 17वीं लोकसभा में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता और बेरहामपुर से संसद सदस्य के साथ.’Also Read - West Bengal News: केंद्र सरकार के खिलाफ ममता की दहाड़-भाजपा को सत्ता से बाहर करने तक 'खेला होबे'

हालांकि ट्वीट में शिष्टाचार भेंट के बारे में संकेत दिया गया, लेकिन कांग्रेस के लोग बैठक की प्रकृति के बारे में अनुमान लगा रहे हैं. चौधरी ने इस मुद्दे पर संदेशों का जवाब नहीं दिया, लेकिन सूत्रों ने कहा कि यह एक शिष्टाचार भेंट थी. राज्य में ‘बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर धनखड़ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (WB CM Mamata Banerjee) के साथ आमने-सामने हैं. धनखड़ ने गुरुवार सुबह राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद (President Ramnath kovind) से भी मुलाकात की. बैठक का विवरण ज्ञात नहीं है. Also Read - WB News: सुवेंदु अधिकारी की मुश्किलें बढ़ीं, बॉडीगार्ड की मौत के मामले में पुलिस जांच शुरू; पत्नी ने लगाए हैं गंभीर आरोप

धनखड़ के कार्यालय ने गुरुवार सुबह ट्वीट किया, ‘पश्चिम बंगाल के राज्यपाल श्री जगदीप धनखड़ ने श्रीमती सुदेश धनखड़ के साथ भारत के राष्ट्रपति माननीय श्री राम नाथ कोविंद और प्रथम महिला श्रीमती सविता कोविंद से राष्ट्रपति भवन में शिष्टाचार भेंट की.’ धनखड़ ने हालांकि कहा कि राष्ट्रपति से उनकी मुलाकात एक शिष्टाचार मुलाकात थी. बाद में धनखड़ ने गृह मंत्री शाह (Home Minister Amit Shah) से मुलाकात की. धनखड़ और शाह दोनों की एक तस्वीर के साथ गृह मंत्री के कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘पश्चिम बंगाल के राज्यपाल धनकरजी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की.’ Also Read - मोदी कैबिनेट के विस्तार से पहले केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत बने कर्नाटक के गवर्नर, 8 राज्यों के राज्यपाल बदले गए

धनखड़ ने 2 मई को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद हिंसा प्रभावित राज्य के कई हिस्सों का दौरा किया था और लोगों से बात की थी. राज्यपाल के एक करीबी सूत्र ने कहा, ‘हिंसा प्रभावित राज्य में उनके अनुभव का पूरा ब्योरा एक रिपोर्ट में दिया गया है. धनखड़ दिल्ली में रिपोर्ट सौंप सकते हैं.’ (IANS Hindi)