मुंबई: अपनी डेब्यू फिल्म ‘विकी डोनर’ से लेकर हालिया रिलीज ‘आर्टिकल 15’ तक, अभिनेता आयुष्मान खुराना (Ayushman Khurana) सालों से दर्शकों का मनोरंजन करते हुए उन्हें अपनी फिल्मों के माध्यम से सामाजिक संदेश देते रहे हैं. उनकी अगली फिल्म ‘बाला’ है और अब एक बार फिर से आयुष्मान एक ऐसे मुद्दे को उठाने के लिए तैयार हैं, जो समाजिक रूप से प्रासंगिक तो है, लेकिन जिस पर कभी चर्चा नहीं हुई है और वह है पुरुषों में वक्त से पहले गंजापन.

फिल्में और स्क्रिप्ट्स को चुनने की अपनी तकनीक के बारे में आयुष्मान ने कहा, “‘आर्टिकल 15’ में असमानता पर एक बहस की शुरुआत करने से लेकर ‘ड्रीम गर्ल’ के माध्यम से समाज में जेंडर फ्लूडिटी को उजागर करना और अब ‘बाला’ के माध्यम से पुरुषों में वक्त से पहले गंजापन के विषय पर चर्चा करना, मैंने हमेशा से ऐसी फिल्में देने की उम्मीद की है, जो समाज और समुदायों के बीच चर्चा की शुरुआत करे. मेरे लिए, यही सिनेमा का सही अर्थ है.”

फोटो – आयुष्मान खुराना-इंस्टाग्राम

आयुष्मान ने आगे कहा, “लोगों का भरपूर मनोरंजन करने के साथ-साथ एक संदेश देने की भी आवश्यकता है, लोगों को सोचने पर मजबूर करने और एक विचार को साथ ले जाने की भी आवश्यकता है. मेरा सिनेमाई सफर हमेशा से ऐसा ही रहा है और आगे भी ऐसा ही रहेगा.”

Ujda Chaman: विवाद के बाद सनी सिंह की फिल्म उजड़ा चमन की बदली डेट, अब इस दिन होगी रिलीज

अमर कौशिक द्वारा निर्देशित फिल्म ‘बाला’ में भूमि पेडणेकर और यामी गौतम भी हैं. यह फिल्म सात नवंबर को रिलीज होगी.