नई दिल्ली: एक्टर शरद केलकर  (Sharad Kelkar) एक विलेन के रूप में टाइपकास्ट होने की परवाह नहीं करते हैं और वह नेगेटिव रोल करने को मजेदार मानते हैं. एक बेहतरीन डबिंग आर्टिस्ट शरद ‘बाहुबली’ सीरीज की फिल्मों में मुख्य किरदार के लिए डबिंग कर चुके हैं. उन्होंने 2012 में फिल्म (1920 द इविल रिटर्न्‍स) से बॉलीवुड में आगाज किया और फिल्म में वह बुरी आत्मा के किरदार में नजर आए थे. वह ‘भूमि’ और ‘हाउसफुल 4’ में ग्रे कैरेक्टर निभा चुके हैं.Also Read - Sharad Kelkar Birthday: कभी स्पोर्ट्स टीचर थे शरद केलकर, 'बाहुबली' में आवाज देकर हुए थे मशहूर

Also Read - शरद केलकर का बस एक ही सवाल- लोग पार्टी कर सकते हैं, लेकिन थिएटर में नहीं जा सकते, क्यों?

इस टीवी शो की वजह से खुद को आज इस मुकाम पर पाते हैं करण वाही, फोटो शेयर कर बताया फैन्स को, देखें POSTS Also Read - Black Widows: ZEE5 पर रिलीज हुई ये Original Dark Thriller Web Series, फ्राइडे नाइट को बनाइए स्पेशल

शरद ने एजेंसी को बताया, “मैं विलेन के रूप में टाइपकास्ट होने को लेकर परेशान नहीं हूं क्योंकि यह दूसरी ऐसी चीज है जिसे इंडस्ट्री को जरूरत है. जब तक कोई विलेन नहीं होगा तब तक हीरो नहीं हो सकता, तो मैं इस स्पेस में खुश हूं.” अभिनेता ने कहा कि वह बतौर कलाकार खुद को और निखारना व उभारना चाहते हैं.

उन्होंने कहा, “मैं और उभरना चाहता हूं इसलिए मैं अलग-अलग तरह के किरदार करना चाहता हूं और शुक्र है कि मुझे ऐसे किरदार मिल रहे हैं..मैं बहुत असुरक्षित नहीं महसूस करता हूं. मैं विलेन का किरदार निभाकर ऊबा नहीं हूं लेकिन हां, बीच-बीच में मुझे थोड़ बदलाव की जरूरत होती है, मैं विभिन्न किरदार वाले प्रोजेक्ट करता हूं..लेकिन विलेन का किरदार निभाना मजेदार होता है.” उन्होंने कहा कि वह अलग-अलग प्रकार के किरदार निभाने की कोशिश कर रहे हैं और आशा करते हैं कि दर्शक उन्हें इन किरदारों में पसंद करेंगे.