नई दिल्ली: कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद से ही सोनू सूद पिछले पांच छह महीने से लगातार सोशल वर्क में जुटे हुए हैं. पहले उन्होंने लॉकडाउन के दौरान हजारों प्रवासी मजदूरों को अपने घर पहुंचाया तो कई बार विदेशों से भी लोगों को भारत वापस आने में मदद की. अब एक्टर सोनू सूद इस तरह से लोगों के बीच घुल मिल गए हैं कि जब भी किसी को कोई समस्या होती है वह उन्हें ही याद करता है. अब सोनू सूद ने छोटे छोटे बच्चों की पढ़ाई के लिए ऐसा काम किया है जिसकी हर तरफ तारीफ हो रही है. Also Read - कोरोना काल में गरीबों के मसीहा बने सोनू सूद को लेकर लोगों में श्रद्धा, कोलकाता के दुर्गा पांडाल में सजी एक्टर की मूर्ति

दरअसल जब से लॉकडाउन हुआ है तब से सभी जगह ऑनलाइन क्लासेस चल रही हैं लेकि पंचकुला से लगभग 15 किमी दूर स्थिक दापना गांव में बच्चे खराब नेटवर्क होने की वजह से अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पा रहे थे. गांव में एक बी मोबाइल टॉवर न होने की वजह से बच्चों को पेड़ों पर चढ़कर पढ़ाई करना पड़ रहा था, लेकिन सोनू सूद ने गांव में एक मोबाइल टॉवर लगाकर इन बच्चों की इस समस्या को पूरी तरह से दूर कर दिया है. Also Read - Coronavirus In Haryana: हरियाणा में 4 महीने बाद कोरोना से नहीं हुई किसी की मौत, अधिकारियों ने कही ये बात

पेढ़ों पर चढ़कर पढ़ाई करने की तस्वीर को सोनू सूद ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में देखा था, जिसके बाद उन्होंने जगह पता कि और बच्चों की इस परेशानी को दूर करने का मन बना लिया. इस काम में उनकी मदद उनके एक दोस्त ने की. Also Read - SC ने पराली जलाने पर रोक के लिए Retd Justice की अगुवाई में पैनल का गठन किया, SG ने विरोध किया

शनिवार को मोबाइल टॉवर लगने के बाद से गांव में खुशी का माहौल है, बच्चे इसे लेकर उत्साहित है. इसके बाद सोनू सूद ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बच्चों और गांव के दूसरे सदस्यों से मुलाकात भी की. उन्होंने बच्चों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं बी दीं.