मुंबई: बॉलीवुड में बाल कलाकार के तौर एक्‍टिंग कर चुकी एक्‍ट्रेस डेजी ईरानी भी शारीरिक शोषण का शिकार हुई थी. एक इंटरव्‍यू में उन्‍होंने ये बात बताई है और उनका के साथ ये हरकत उनके ही एक करीबी व्‍यक्ति ने ऐसा किया था. डेजी के साथ ये वाकया तब हुआ था, जब वह महज 6 साल की थीं और उस समय मद्रास में एक फिल्‍म के लिए शूटिंग कर रही थीं, तो उनके संरक्षक के तौर एक करीबी अंकल ने शारीरिक शोषण किया था. ये वाकया उनके साथ तब हुआ था, जब 1957 में फिल्‍म ‘हम पंछी एक डाल के’ की आउटडोर शूटिंग के सिलसिले में मुंबई से बाहर गई थी. Also Read - 8-Year-Old Girl Allegedly Sexually Assaulted by a Man in MP | इंदौर में आठ वर्षीय बालिका से दुष्कर्म, हिरासत में पड़ोसी युवक

कई फिल्मों में बाल कलाकार के तौर पर एक्‍टिंग कर चुकीं डेजी ईरानी ने कहा कि जब वह छह साल की थी, तब उनके संरक्षक ने उनसे छेड़छाड़ की थी. ईरानी ने कहा कि 1957 में ”हम पंछी एक डाल के” की शूटिंग के दौरान एक अंकल ने उनसे छेड़छाड़ की थी. तब वह मद्रास (अब चेन्नई) में शूटिंग कर रही थीं. डेजी ने कहा, ”किसी ने मुझसे बच्चों (शो बिज में) के बारे में पूछा और मैंने इस घटना के बारे में बात की. मुझे सिर्फ यह याद है कि वह व्यक्ति जो मेरे साथ फिल्म की शूटिंग के दौरान था, उसने मुझे होटल के कमरे में बुलाया और फिर इसके बारे में किसी से बात नहीं करने की चेतावनी दी”. Also Read - Haryana: Pradyuman Thakur was not sexually assaulted, says doctor | पोस्टमॉर्टम में खुलासा, प्रद्युम्न का यौन शोषण नहीं हुआ था

धूल का फूल, बंदिश, एक ही रास्ता, नया दौर जैसी फिल्मों में काम कर चुकीं ईरानी ने पूर्व में दिए गए एक इंटरव्‍यू में कहा था कि उनकी महत्वाकांक्षी मां ने उन्हें फिल्मों में धकेल दिया था. उनकी बहन हनी ईरानी भी फिल्मों में बतौर बाल कलाकार काम कर रही थीं.

ईरानी ने बताया,” मैं बहुत छोटी थी. आप क्या कर सकते हैं? आप पुरुषों की दुनिया में हैं.” उम्र के छठे दशक में चल रहीं ईरानी ने कहा कि वह यह जानकर भौचक्की रह गईं, जब किसी ने सुझाव दिया कि ऐसा कुछ होता है तो बच्चों को इसके बारे में आवाज उठानी चाहिए.

उन्होंने कहा, ” … मैं यह सोच रही थी कि क्या वह अपने होश में नहीं है? कहां और किससे इस बारे में बात की जाए? वे (बच्चे) जानते हैं कि माता- पिता यह काम चाहते हैं, वे उसके पीछे हैं.” यह पूछे जाने पर कि क्या वह यह कहना चाह रही हैं कि अभिभावक या माता-पिता बच्चों पर फिल्म और टीवी में काम करने के लिए दबाव डालते हैं, उन्होंने पलटकर जवाब देते हुए कहा, ”निश्चित रूप से हां.”

ईरानी ने बताया कि इस घटना का प्रभाव उनके व्‍यवहार पर बुरी तरह से पड़ा और वह काफी जल्‍दी गुस्‍सा हो जाती थी. उनकी मासूमियत खत्‍म सी हो गई थी. उनकी मां को भी इस घटना के बारे में पता चल गया था. बच्‍चों के साथ शारीरिक शोषण के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं. इन्‍हें देखते हुए अभिभावकों को खास ऐतिहात बरतने की जरूरत है और बच्‍चों के बदले व्‍यवहार के पीछे की वजह भी जानने की जरूरत है.  बच्‍चों के शोषण के मामले में अधिकतर किसी करीबी के होने की खबरें आती हैं. इसके चलते विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है.  (इनपुट एजेंसी)