अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा हमेशा अपने मन की बात सुनने के लिए जानी जाती हैं, लेकिन उनका मानना है कि ट्रोलिंग के महिमामंडन से कलाकारों पर अत्यधिक दवाब बढ़ गया है. उनका मानना है कि ट्रोलिंग के बढ़ते चलन से सिर्फ धमकी तथा डिप्रेशन ही पैदा होता है. ग्लोबल स्टार के तमगे से पैदा होने वाले दवाब के सवाल पर प्रियंका ने मीडिया के साथ विशेष बातचीत में कहा, “सबसे पहले, दवाब लोगों की राय से आती है और इस बात से कि आज के समय में किस तरह प्रत्येक व्यक्ति की राय एक खबर बन जाती है.”

 

View this post on Instagram

 

Glam baths…yes pls…the #jonasbrothers Are back! #sucker Before and after. 🥶 Best hubby ever. @nickjonas ❤️

A post shared by Priyanka Chopra Jonas (@priyankachopra) on

व्यावसायिक तथा निजी कारणों से भारत आईं अभिनेत्री ने कहा, “ज्यादातर, मैं मीडिया को ट्रोलिंग के बारे में लिखते देखती हूं कि कोई व्यक्ति इस बात के लिए ट्रोल हुआ, उसके लिए ट्रोल हुआ. मुझे यह कभी समझ में नहीं आया कि किसी व्यक्ति की राय खबर कैसे हो सकती है. मीडिया आखिर कैसे कुछ 500-600 या 1000 लोगों के विचारों को इतना महत्व देता है, जिनकी कोई साख नहीं है.”

 

View this post on Instagram

 

@eliesaabworld 🖤🖤🖤

A post shared by Priyanka Chopra Jonas (@priyankachopra) on

प्रियंका ने अपनी हॉलीवुड फिल्म ‘इजनॉट इट रोमांटिक’ फिल्म के बारे में बात करते हुए स्वीकार किया कि डिजिटल दुनिया में जीने के दवाब हैं. उनकी यह फिल्म भारत में स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर रिलीज हो चुकी है. उन्होंने कहा, “यह दवाब हमारे खुद के या हमारे प्रशंसकों द्वारा नहीं दिया जाता. यह सिर्फ इंटरनेट ने दिया है. इसने लोगों का काम आसान कर दिया है. आप किसी भी इंसान के बयान से खबर बना सकते हैं.”

 

View this post on Instagram

 

Best travel buddy ever..hello Delhi.. so good to be back.. ❤️🇮🇳💋 @nickjonas

A post shared by Priyanka Chopra Jonas (@priyankachopra) on

‘क्वांटिको’ स्टार का मानना है कि ट्रोलिंग के महिमामंडन से कलाकारों पर अत्यधिक दवाब आ गया है. प्रियंका खुद सोशल मीडिया पर कभी अपने कपड़ों या पिछले साल गायक निक जोनस के साथ अपनी शादी पर आतिशबाजी करने को लेकर ट्रोलर्स के गुस्से का शिकार हो चुकी हैं. भारत में ‘डॉन’, ‘फैशन’, ‘सात खून माफ’, ‘बर्फी’, ‘मैरी कॉम’ और ‘बाजीराव मस्तानी’ जैसी फिल्मों में अभिनय कर चुकीं प्रियंका ट्रोलिंग के चलन से होने वाले गंभीर परिणामों की तरफ ध्यान खींचा है.

प्रियंका ने कहा, “हमारे बच्चों के दिमाग में यह नहीं आना चाहिए कि लोगों की राय इतनी महत्वपूर्ण है. जब स्कूल में चिढ़ाए जाने या किशोरावस्था में इंस्टाग्राम पोस्ट पर आई टिप्पणी पर मजाक उड़ाए जाने से उनके अवसाद में आने के बाद उन्हें आत्मघाती कदम उठाने को मजबूर करता है.”

 

View this post on Instagram

 

💎 @chopard

A post shared by Priyanka Chopra Jonas (@priyankachopra) on

अपने बारे में उन्होंने कहा, “मैं वह नहीं हूं जो अपना जीवन किसी और के हिसाब से अपनी जिंदगी जीए. मैं अपने मन की सुनती हूं, लेकिन एक सार्वजनिक हस्ती होने के नाते मैं दूसरों की भावनाएं जानने में बहुत माहिर हूं.” फिल्मों के मामले में अभिनेत्री की फिल्म ‘इजनॉट इट रोमांटिक’ को अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.