सोशल मीडिया पर विभिन्न मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखने वाली अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने कहा कि वह किसी भी राजनीतिक दल की एजेंट नहीं हैं. एक बयान के अनुसार, फर्स्टपोस्ट डॉट कॉम के ‘सोशल मीडिया स्टार’ पर अपनी उपस्थिति के दौरान ऋचा से पूछा गया कि कुछ लोग उन्हें राष्ट्र विरोधी कहते हैं, जिसके बारे में उनकी क्या राय है.

इस सवाल के जवाब में ऋचा ने कहा, “मुझे लगता है कि सरकार अनिवार्य रूप से एक सेवक की भूमिका में होती है और उसे इसकी याद दिलाने की जरूरत है. यह किसी का विरोधी होने के बारे में नहीं है, बल्कि यह विकास समर्थक, एकता समर्थक होने के बारे में और देश के अस्तित्व के दीर्घकालिक उद्देश्यों की तरफ देखने के बारे में है.”

उन्होंने कहा, “ऐसा नहीं है कि यदि कोई खास पार्टी सत्ता में है, तभी हम उसकी आलोचना करेंगे और अगली बार यदि कोई दूसरी पार्टी है, तो हम उनकी आलोचना नहीं करेंगे. मैं किसी भी राजनीतिक दल की एजेंट नहीं हूं. मुझे लगता है कि एक राजनीतिक दल, एक व्यक्ति, एक विचार प्रक्रिया, एक धर्म या संस्था को देश के साथ समझा नहीं जा सकता है.”

ऋचा ने ट्विटर पर हिंदुत्व समर्थकों पर अपनी राय व्यक्त की थी, जिसके लिए उन्हें उनके साथ दुष्कर्म करने और जान से मारने की धमकी भी मिली थी.