भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद नियमित रूप से ट्रोल हो रहे गायक अदनान सामी ने अपने पूर्ववर्ती देश पाकिस्तान के निवासियों को लेकर कहा कि वे ‘अपने खुद के जीवन से निराश हैं’ और जब से उन्हें यह एहसास हुआ है कि मैं इन सब से आगे बढ़ चुका हूं, तब से वे मेरे ऊपर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं. सामी से ट्विटर पर एक यूजर ने पूछा, “आपको पाकिस्तानियों की काफी आलोचना सुनने मिलती है. आप इन सबका सामना कैसे करते हैं?”

अर्जुन-मलाइका ने एक-दूसरे के साथ किया क्वालिटी टाइम स्पेंड, तस्वीरें शेयर करके दिया प्यारा सा कैप्शन

सामी ने उसके रिप्लाई में कहा, “मेरे प्रिय, कोई बात नहीं; वे मूल रूप से असहाय, राह से भटके हुए और अपने स्वयं के जीवन को लेकर निराश हैं और उन्हें जब से पता चला है कि मैं आगे बढ़ चुका हूं, वे तब से मेरे ऊपर अपनी भड़ास बाहर निकाल रहे हैं.

सामी ने आगे कहा, “मैं उन्हें माफ करता हूं और प्रार्थना करता हूं कि भगवान उनके जीवन में सुधार करें. वे वास्तव में पीड़ित हैं.”

सामी ब्रिटेन में पैदा हुए थे. वह पहले पाकिस्तानी मूल के एक कनाडाई नागरिक थे. 2016 में उन्हें भारतीय नागरिकता प्रदान की गई थी.

सामी ब्रिटेन में पैदा हुए और पहले कनाडा की नागरिकता रखते थे. वे पाकिस्तानी मूल के हैं. उन्हें 2016 में भारतीय नागरिकता मिली थी. ‘कभी तो नजर मिलाओ’ और ‘लिफ्ट करा दे’ जैसे गानों के लिए भारत में मशहूर सामी कई सारे म्यूजिकल इंस्ट्रमेंट बजाने के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने हमेशा कहा है कि उन्हें भारत से जो प्यार मिला है, वही उनके लिए ‘सबकुछ’ है.

(इनपुट आईएनएस)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ