मुंबई: मिस वर्ल्ड से जुड़ी प्रतिबद्धताओं में व्यस्त मानुषी छिल्लर ने कहा कि उन्होंने बॉलीवुड के लिए दरवाजे बंद नहीं रखे हैं और उनका मानना है कि उनके भीतर एक अभिनेत्री छिपी हुई है. मानुषी को पिछले साल चीन में आयोजित एक शानदार कार्यक्रम के दौरान विश्व सुंदरी का ताज पहनाया गया था. इससे लगभग डेढ़ दशक पहले प्रियंका चोपड़ा ने साल 2000 और उससे एक साल पूर्व 1999 में युक्ता मुखी ने विश्व सुंदरी का खिताब जीता था. इसके तुरंत बाद दोनों ने बॉलीवुड में प्रवेश किया था.

मानुषी ने बताया कि मैं अपने अंदर की अभिनेत्री को महसूस कर सकती हूं. एक डॉक्टर और एक अभिनेत्री में समानताएं होती हैं. मेरे पिता हमेशा कहते हैं कि अच्छी डॉक्टर बनने के लिए तुम्हें अच्छी अभिनेत्री बनना पड़ेगा क्योंकि आधे मरीज केवल आपके व्यवहार से ही ठीक हो जाएंगे.

🐟🐍 @lavishalice @isharya

A post shared by Manushi Chhillar (@manushi_chhillar) on

विश्व सुंदरी से पूछा गया कि उन्होंने अब तक कितने फिल्मों के प्रस्ताव को ना कहा है तो उन्होंने कहा, मैं अब तक किसी भी अवसर को नकारा नहीं है. अभी प्रतीक्षा जारी है. मुझे अभी कुछ जिम्मेदारियां पूरी करनी है. सही समय आने पर मैं बॉलीवुड के बारे में फैसला करूंगी.

कॉलेज में पहले साल मानुषी ने ‘मिस कैंपस प्रिंसेस’ का खिताब जीता था. जिसके बाद से विश्व सुंदरी बनने की लालसा उनके मन में जागी.डॉक्टर पैरेंट्स के घर की बेटी मनुषी ने दिल्ली के सेंट थॉमस स्कूल और सोनीपत के भगत फूल सिंह गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज फॉर वूमेन से पढ़ाई की है. मानुषी के पिता DRDO में वैज्ञानिक और मां नीलम भी बायोकेमिस्‍ट्री में एमडी हैं. मानुषी अपनी मां को सबसे अधिक प्रेम करती हैं.