After K Pop and K Drama Korean webtoons engage Indian Gen Z-भारत में कुछ ही समय बाद, दक्षिण कोरियाई पॉप संस्कृति और मनोरंजन ने एक जगह बना ली है और विशेष रूप से के-पॉप प्रशंसकों के रूप में भारत में एक समर्पित दर्शकों को शामिल किया है. अब वेबटून, (एक प्रकार का डिजिटल कॉमिक जो दक्षिण कोरिया में उत्पन्न हुआ) को लगता है कि वह 15-24 आयु वर्ग के लोगों के बीच अत्यधिक लोकप्रिय हुआ और ज्यादा से ज्यादा कॉमिक पाठकों ने उनकी ओर रुख किया है.Also Read - Uddhav Thackeray Resigns: खुद कार ड्राइव कर उद्धव ने राज्यपाल को सौंपा इस्तीफा, 'मातोश्री' लौटते वक्त मंदिर में टेका मत्था; देखें तस्वीरें...

कोरियाई सांस्कृतिक लहर का यह नया तत्व भारत में एक वेबटून ऐप क्रॉस कॉमिक्स के मासिक सक्रिय उपयोगकतार्ओं की संख्या में दिखाई देता है, जिसका उद्देश्य देश के युवाओं के लिए नए, रोमांचक वेबटून लाना है. दिसंबर 2019 में भारत में सेवा शुरू होने के बाद से इसने 3 मिलियन डाउनलोड को पार कर लिया है . वर्तमान में इसके 1.1 मिलियन मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता हैं. Also Read - Maharashtra Political Crisis: राज्यपाल ने उद्धव का इस्तीफा किया स्वीकार, कार्यवाहक सीएम बने रहने को कहा | Updates

15-24 आयु वर्ग के लिए खानपान, क्रॉस कॉमिक्स का उल्लेखनीय विकास प्रक्षेपवक्र इसके मोबाइल-अनुकूल प्रारूप और आकर्षक सामग्री की 9 शैलियों से उपजा है – एक्शन, रोमांस, ड्रामा, कॉमेडी, फैंटेसी, हॉरर, स्लाइस ऑफ लाइफ, मिस्ट्री और थ्रिलर. प्लेटफॉर्म का अधिकांश ट्रैफिक टियर- एक और टियर-दो शहरों से आता है, जिसमें महिलाओं का प्रतिशत सबसे ज्यादा है. वेबटून ऐप ने हाल ही में भारत में मोबाइल गेमिंग स्पेस में भी कदम रखा है. Also Read - Uddhav Thackeray Resigns: 'कर्म किसी को नहीं छोड़ता', उद्धव ठाकरे के इस्तीफे पर BJP नेताओं का तंज

मई 2019 में स्थापित, क्रॉस कॉमिक्स का मुख्यालय सियोल, दक्षिण कोरिया में है, जिसके कार्यालय मुंबई, भारत और लॉस एंजिल्स, कैलिफोर्निया, यूएसए में हैं. मंच वर्तमान में अंग्रेजी, तेलुगु और हिंदी में कंटेंट देता है और जल्द ही और ज्यादा भाषाओं को जोड़ने की योजना बना रहा है.

यह पूछे जाने पर कि ऐप पर सबसे ज्यादा क्या पढ़ा और पसंद किया जाता है, क्रॉस कॉमिक्स के सह-संस्थापक, अध्यक्ष और सीईओ नवू थॉमस किम ने आईएएनएसलाइफ को बताया, “डिजिटल कॉमिक्स जिसमें ‘रोमांस’ शैली का अधिकांश कंटेंट है, लेकिन हमारे पास कई अन्य शैली भी हैं. एक्शन, फंतासी, कॉमेडी, हॉरर, थ्रिलर आदि जैसी कॉमिक्स. हमारा सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला शीर्षक ‘शी हेट्स मी’ है, जिसमें अकेले उस शीर्षक के लिए 20 प्रतिशत से ज्यादा पाठक हैं. हमारे ऐप पर शीर्ष पांच शीर्षक सभी ‘रोमांस’ के शीर्षक हैं और इसमें करीब आधे से ज्यादा पाठक शामिल हैं.”

किम ने खुलासा किया “मुख्य अंतर यह है कि इन दो प्रारूपों को कैसे/कहां बनाया गया था. कॉमिक्स की सामान्य उपस्थिति के अलावा जहां जापानी मंगा, मूल रूप से पेपर-आधारित पढ़ने के लिए बनाई गई है, आमतौर पर काला/सफेद होता है और क्षैतिज रूप से पढ़ता है. कोरियाई वेबटून, विशेष रूप से बनाए गए हैं स्मार्ट फोन, लंबवत रूप से पढ़े जाते हैं और रंग से भरे होते हैं. मुख्य अंतर उस संस्कृति में निहित है जहां से वे उत्पन्न होते हैं. इसके अलावा, कोरियाई वेबटून रोमांस, काल्पनिक कहानियों की ओर थोड़ा अधिक झुकते हैं और युवा महिलाओं को पूरा करते हैं . जापानी मंगा शैलियों के मामले में व्यापक है और युवा पुरुष आबादी की ओर थोड़ा ज्यादा झुक सकता है.”

किम, जो एक दक्षिण कोरियाई निवेश बैंकर से फिल्म निर्माता बने हैं, उनका कहना हैं कि “कोरियाई कंटेंट के साथ भारतीय बाजार में प्रवेश करना मेरे करियर के सबसे संतुष्टिदायक अनुभवों में से एक रहा है. हमें यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि क्रॉस कॉमिक्स पिछले 1.5 वर्षों में तेजी से बढ़ा है. टीम के लिए अच्छा है क्योंकि वे भारत में मंच के विकास को चार्ट करने में सहायक रहे हैं. हमारा मानना है कि सम्मोहक कहानियां दुनिया में कहीं भी काम कर सकती हैं. हम अपने उपयोगकतार्ओं के लिए आकर्षक, नए प्रकार के कंटेंट लाने और प्राप्त करने के लिए तत्पर हैं . “