मुंबई: अभिनेता अली फजल (Ali Fazal) का कहना है कि कलाकारों को किसी तरल की तरह होना चाहिए. उन्होंने कहा, “कलाकारों को किसी भी भाषा, प्रारूप और शैली में नहीं बंधना चाहिए. हम जिस क्षेत्र में काम करते हैं, वहां खुद का किसी तरल की तरह होना और नई-नई चीजों को आजमाने की दिशा में हमेशा तैयार रहना आवश्यक है.” Also Read - अली फज़ल ने बताया- कैसा होगा कोरोना काल के बाद का वक़्त, महामारी के बाद कैसे बनेगी फिल्म 

  Also Read - मिर्जापुर की टीम दिखेगी अब इस नए अंदाज़ में, अली फजल ने कही ये बात    

View this post on Instagram

  Also Read - इस रूप में दिखीं एकता की नागिन, फैन्स बोले- माशाल्लाह क्या खूबसूरती है

I woke up like this and luckily the camera was around. So i clicked. The second pic is me faking a fake shock . I saw someone post a pic yesterday with a similar expression and it said – impromptu expressions , just came from no where. Sweety, Virus ideology hai. Har jagah naaaahi tsalega.. now go back to my 1st statement. Do you believe it? #Narrative

A post shared by ali fazal (@alifazal9) on

अली बॉलीवुड के उन पहले अभिनेताओं में से हैं, जिन्होंने काफी पहले ही डिजिटल क्षेत्र में कदम रखा था. वह साल 2015 में वेब शो ‘बैंड बाजा बारात’ में नजर आए थे. इस पर उन्होंने कहा, “शुरुआत में, जब साल 2015 में मुझसे संपर्क किया गया, तब मैं सीरीज की क्षमता को लेकर निश्चित नहीं था. मुझे बस इसकी कहानी पसंद आई थी. ‘मिर्जापुर’ के बाद मुझे इसकी क्षमता के बारे में पूरी तरह से समझ में आया.”

 

View this post on Instagram

 

Thank you @tiscaofficial for letting me lend my voice here Our times are very unreal. Yes this is our first pandemic. But within the dark shadows of this lockdown, lies the real pandemic and thats hate and abuse. How these infections spread across societies . Its a human trait gone wrong. Terribly. so many unheard voices and so many stories of agony at home. Today i take up their names because they suffer . I want to tell them i will try and understand that suffering. I will try and spread some love . I hope some of it goes their way and doesnt just remain a fad on instagram. #LockDownMeinLockUp Rising number of cases have put tremendous pressure on the resources of SNEHA, an NGO that has been fighting domestic violence since the past 20 years. They need to raise funds to raise resources to tackle domestic violence. You can choose to lend your voice by clicking on @snehamumbai_official , pick a name on their page, post your image with the name you’ve picked, and donate via the link in the bio of @snehamumbai_official I nominate @sarahjanedias @geetikavidya @satyajeetdubey @amyradastur93 to lend their voices and help out too #LockDownMeinLockUp #domesticviolence #Sneha #NGO #domesticviolenceawareness

A post shared by ali fazal (@alifazal9) on

वह आगे कहते हैं, “इस महामारी के चलते शूटिंग करने व किसी कहानी को बताने की दिशा में एक बड़ा बदलाव आने वाला है. मुझे इस बात की खुशी है कि इस वक्त तनाव के इस माहौल से मैं उबरने में कामयाब रहा, जिसके चलते कहानी की गुणवत्ता पर अधिक ध्यान दे पाया.”