दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन ने कहा है कि उन्हें उस वक्त थोड़ी शर्म सी आई थी जब उन्हें ‘स्टार ऑफ द मिलेनियम’ बताया गया था. उन्हें लगा था कि शायद ऐसा कंप्यूटर की खामी की वजह से हुआ है. उन्होंने जोर देकर कहा कि वह महज एक ‘साधारण कलाकार’ हैं. वर्ष 1999 में बीबीसी ने एक ऑनलाइन सर्वेक्षण के बाद अमिताभ को इस उपाधि से सम्मानित किया था. इसे याद करते हुए उन्होंने कहा कि उनके सह-कलाकार गोविंद नामदेव ने उन्हें बताया था कि उन्हें ‘स्टार ऑफ द मिलेनियम’ खिताब से नवाजा गया है.

Manikarnika: सपोर्ट नहीं मिलने पर कंगना रनौत ने निकाली भड़ास, झांसी की रानी क्या मेरी चाची हैं?

अमिताभ ने कहा, “लेकिन मुझे कभी इस पर विश्वास नहीं हुआ.. इसके पीछे एक रहस्य है. मुझे सम्मानित करने वाले बीबीसी न्यूज ने एक ऑनलाइन सर्वेक्षण किया, जिसमें उन्होंने लोगों से पिछले 100 वर्षो में सबसे लोकप्रिय कलाकार के लिए वोट करने के लिए कहा.”

Propose day: भोजपुरी क्‍वीन मोनालिसा का बेजोड़ गाना, Faat Jaye Choli Ho को 90 लाख से ज्यादा लोगों ने देखा!

उन्होंने कहा, “और, ऑनलाइन सर्वेक्षण के कारण, कुछ वोट मुझे मिल गए और मुझे लगता है कि यह एक कंप्यूटर की खामी है और इसके पीछे कोई सच्चाई नहीं है.”

उन्होंने कहा, “मैं शरमा सा जाता हूं जब लोग मुझसे इस तरह के लेबल लगाते हैं. मैं एक साधारण कलाकार हूं और जो लोग मेरे साथ इस मंच को साझा कर रहे हैं वे महान हैं क्योंकि मैं उनके विचारों से बहुत प्रेरित हूं.”

76 वर्षीय अभिताभ ने अभिनेता से लेखक बने गोविंद नामदेव की किताब ‘मधुरकर शाह बुंदेला’ के विमोचन पर गुरुवार को संवाददाताओं से यह बात कही. उनके साथ राम गोपाल बजाज, सतीश कौशिक और चंद्रप्रकाश द्विवेदी भी उपस्थित थे.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.